लालू परिवार का गढ होकर भी विकास के लिये तड़प रहा राघोपुर, नाव से होता है कार पार! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

03 November 2020

लालू परिवार का गढ होकर भी विकास के लिये तड़प रहा राघोपुर, नाव से होता है कार पार!

 

लालू परिवार का गढ होकर भी विकास के लिये तड़प रहा राघोपुर, नाव से होता है कार पार!

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के गढ तथा गंगा किनारे बसे राघोपुर में आज मतदान हो रहा है, ये सीट लालू यादव का गढ कहा जाता है, अब तेजस्वी यहीं से जीतकर मुख्यमंत्री बनना चाह रहे हैं, हालांकि राघोपुर के लोगों ने पहले राबड़ी को जिताकर मुख्यमंत्री बनाया था, तेजस्वी ने नामांकन में कहा था कि राघोपुर के लोग सिर्फ विधायक नहीं बल्कि मुख्यमंत्री चुनते हैं, यहां 1995 और 2000 में लालू प्रसाद यादव तथा 2005 में राबड़ी देवी ने चुनाव जीता था।

बिजली सप्लाई
राघोपुर के लोगों के पास ऐसा कुछ भी दिखाने को नहीं है, जिससे वो कह सकें, कि हमने तीन बार मुख्यमंत्री को जिताया है, हां, यहां बिजली सप्लाई 24 घंटे होती है, साल 2010 विधानसभा चुनाव में जदयू उम्मीदवार सतीश कुमार ने यहां राबड़ी देवी को हराया था, 2015 में एक बार फिर से ये सीट राजद के खाते में चली गई, तेजस्वी यादव यहां से जीतकर महागठबंधन सरकार में डिप्टी सीएम बनें।

विकास के नाम पर वोट
परिवार के अलावा तेजस्वी यादव लोगों से विकास के नाम पर वोट मांग रहे हैं, उन्होने 2015 में ही कच्ची दरगाह (पटना) और बिदुरपुर (हाजीपुर) के बीच 9.6 किमी के पुल को मंजूरी दी थी, उसी साल काम भी शुरु हो गया था, हालांकि इसका निर्माण पूरा नहीं हो पाया है, और लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ता है, अवधेश राय बताते हैं कि दूध बेचने जाने के लिये मुझे नाव से जाना होता है, सैकड़ी सब्जी विक्रेता भी यही करते हैं, राघोपुर के लोगों का कहना है कि जिनके पास 4 पहिया गाड़ी है, उन्हें भी उसे नाव पर लादना पड़ जाता है, रवि महतो कहते हैं कि यहां अवैध शराब का कारोबार फल-फूल रहा है, पुलिस भी दखल देने से डरती है।

यादव बहुल सीट
राघोपुर यादव बहुल सीट है, सतीश यादव का कहना है कि जब मैं नदी पार करता हूं, तो दिल बैठ जाता है, लगता है कि पता नहीं कब इसमें गिर जाऊंगा, Tejashwiइस सीट में लगभग 1.25 लाख यादव आबादी है, 40 हजार राजपूत, 20 हजार एससी और 10 हजार ओबीसी हैं, लोजपा ने यहां राकेश रौशन को उतारा है, रुस्तमपुर के रहने वाले एक शख्स ने कहा कि हम राजधानी पटना से सिर्फ 40 किमी दूर हैं, लेकिन यहां विकास नहीं हो पाया, नीतीश कुमार ने यहां विकास नहीं होने दिया है, तेजस्वी से उन्हें विकास की उम्मीद है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment