ट्रंप ने की पोस्ट बैलेट गिनती रोकने की मांग, मिशीगन और जार्जिया के केस ख़ारिज - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

06 November 2020

ट्रंप ने की पोस्ट बैलेट गिनती रोकने की मांग, मिशीगन और जार्जिया के केस ख़ारिज

Donald trump

America का अगला राष्ट्रपति कौन होगा? इसका फैसला तीसरे दिन भी नहीं हो पाया हैl पांच राज्यों में अभी भी पेंच फंसा हुआ है और वहां वोटों की गिनती जारी हैl इस बीच President Donald Trump को बड़ा झटका लगा है. Donald Trump की तरफ से मिशिगन और जॉर्जिया में दायर किए गए केस खारिज कर दिए गए हैं.President Donald Trump ने मिशिगन और जॉर्जिया दोनों राज्यों में पोस्टल बैलेट की गिनती रोकने की मांग की थी, जिसे Michigan and Georgia के कोर्ट ने नहीं माना है और उनका केस खारिज कर दिया.यानी अब इन दोनों राज्यों में पोस्टल बैलेट की गिनती जारी रहेगी.इससे पहले Trump ने डेमोक्रेट पार्टी पर फर्जीवाड़ा का आरोप लगाया था.एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेट चुनाव के नतीजे चुराना चाहते हैं.हमारा मकसद चुनाव की निष्पक्षता को बचाना है. हम प्रभावित नहीं होने देंगे जैसा कि इस चुनाव में होता दिख रहा है.डेमोक्रेट्स को पता था कि वो ईमानदारी से चुनाव नहीं जीत सकते हैं इसलिए उन्होंने पोस्टल बैलेट का फर्जीवाड़ा किया है.

जॉर्जिया में ट्रंप और बाइडेन के मत प्रतिशत बराबर

ज्ञात हो कि जॉर्जिया में अब ट्रंप और बाइडेन के मत प्रतिशत बराबर हो गए हैंl जॉर्जिया में ट्रंप को 49.4 फीसदी और बाइडेन को भी 49.4 फीसदी वोट मिले हैl वहीं वोटों की बात करें तो ट्रंप को 24 लाख 47 हजार 15 वोट मिले हैं l जबकि जो बाइडेन को 24 लाख 44 हजार 518 वोट मिले हैंl जॉर्जिया उन पांच राज्यों में से एक है जो हार-जीत में निर्णायक हैंl

अगर डोनाल्ड ट्रंप चुनाव हारे तो भी बनाएंगे एक रिकॉर्ड

Washington President in America पद के लिए वोटों की गिनती जारी है। अब तक के नतीजों में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन आगे चल रहे हैं और ट्रंप काफी पीछे हैं। अगर US President Donald Trump लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए चुनाव जीतने में विफल रहते हैं तो वे पिछले तीन दशक में पहले ऐसे President होंगे जो राष्ट्रपति रहते हुए अगला चुनाव हार गए हों। साल 1992 में जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश अपना दूसरा कार्यकाल जीतने में विफल रहे थे क्योंकि डेमोक्रेट बिल क्लिंटन चुनाव जीत गए। बुश के बाद से सभी तीन अमेरिकी राष्ट्रपतियों- बिल क्लिंटन, जॉर्ज डब्ल्यू बुश (जूनियर) और बराक ओबामा ने फिर से चुनाव जीता है। जबकि पिछले 100 वर्षों में, केवल चार President लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए लड़ा गया चुनाव हारे हैं।

जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश: 1992 के America by presidential election में 1968 से शुरू हुए रिपब्लिकन पार्टी के लंबी अवधि के शासन को शिकस्त दी थी। बुश की स्वीकार्यता रेटिंग 89 फीसदी थी और उनके दोबारा जीते जाने को निश्चित माना गया थाl क्लिंटन ने 43 प्रतिशत लोकप्रिय वोट के साथ 370 इलेक्टोरल कॉलेज वोट भी जीत लिए थे।

जिमी कार्टर:डेमोक्रेट जिमी कार्टर 1980 के अमेरिकी चुनाव में रिपब्लिकन रोनाल्ड रीगन से हार गए। रीगन के लिए यह एक शानदार जीत थी, क्योंकि उन्होंने लोकप्रिय वोट का 50.7 फीसदी जीते थे। 2016 में 70 वर्षीय डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने से पहले तक तब 69 वर्षीय रीगन सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति थे।

जेराल्ड फोर्ड:1976 में, रिपब्लिकन जेराल्ड रुडोल्फ फोर्ड, डेमोक्रेट जिमी कार्टर से हार गए थे। जब ​​1974 में वाटरगेट घोटाले के बाद राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने इस्तीफा दे दिया तो उप राष्ट्रपति फोर्ड को राष्ट्रपति बनाया गया था। इस प्रकार वह इकलौते ऐसे राष्ट्रपति बने, जो इलेक्टोरल कॉलेज द्वारा कभी नहीं चुने गए।

हर्बर्ट हूवर:रिपब्लिकन हर्बर्ट हूवर को 1932 में डेमोक्रेटिक फ्रेंकलिन डी रूजवेल्ट द्वारा हराया गया था। यह रूजवेल्ट के लिए एक शानदार जीत थी, क्योंकि चुनाव चुनाव महामंदी के दौर में हुआ था।

चुनाव के दो दिन बाद भी अभी तक कोई उम्मीदवार जीत दर्ज करने के लिए आवश्यक मत हासिल नहीं कर पाया है.निर्णायक माने जाने वाले राज्यों विस्कॉन्सिन और मिशिगन में जीत दर्ज कर बाइडेन 264 के आंकड़े पर पहुंच गये हैं। डोनाल्ड ट्रंप को 214 निर्वाचक मंडल मत मिले हैं। मौजूदा राष्ट्रपति की राह हालांकि काफी कठिन है क्योंकि ट्रंप को 270 के जादुई आंकड़े तक पहुंचने के लिए चार शेष बचे ‘बैटलग्राउंड’ राज्यों पेन्सिलवेनिया, नॉर्थ कैरोलिना, जॉर्जिया और नेवादा में जीत हासिल करनी होगी। बैटलग्राउंड उन राज्यों को कहा जाता है, जहां रुझान स्पष्ट नहीं होता। स्पष्ट जीत के लिए 538 निर्वाचक मंडल सदस्यों में से विजेता बनने के लिए कम से कम 270 निर्वाचक मंडल मतों की आवश्यकता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment