गजब: भारत में बसी इस मंदिर का है अनोखा रिवाज, भक्तों को प्रसाद में दिए जाता है सोना-चांदी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

19 November 2020

गजब: भारत में बसी इस मंदिर का है अनोखा रिवाज, भक्तों को प्रसाद में दिए जाता है सोना-चांदी

 

ratlam temple mp

भारत एक ऐसा देश है, जहां पर अनगिनत देवी-देवताओं के मंदिर है. हर मंदिर का अपना एक अलग इतिहास और अलग मान्यताएं हैं. देशभर में कई ऐसे मंदिर हैं जहां पर भक्तों की कतार देखकर आपको हैरानी हो सकती है. लोगों में भगवान के प्रति बसी आस्था देश के कोने-कोने में देखने को मिलेगी. ऐसे न जाने कितने मंदिर आपको देखने के लिए मिल जाएंगे, जिनमें पूजा-अर्चना के लिए लाखों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है. इसी सिलसिले में आज हम बात करते हैं, मध्य प्रदेश के रतलाम शहर के मणिका में बसे अनोखे मंदिर की, जो अलग परंपरा के लिए प्रसिद्ध है.

खास बात तो ये है कि, इस मंदिर में भक्तों को प्रसाद में मिठाई या फिर चीनी का दाना नहीं बल्कि सोना या चांदी दिया जाता है. कहा जाता है कि, मध्य प्रदेश के शहर में स्थित इस मंदिर में जो भी शख्स माता महालक्ष्मी के दर्शन करने आता है, उसे सोने-चांदी के सिक्के दिए जाते हैं. पूरी दुनिया का ये पहला ऐसा मंदिर है जहां पर प्रसाद के तौर पर सोना-चांदी बांटा जाता है.

देश-विदेश से दर्शन करने पहुंचते हैं भक्त
सालभर इस मंदिर में दर्शन करने के लिए लोगों का तांता लगा रहता है. सिर्फ देश से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी लोग यहां मां महालक्ष्मी के दर्शन करने आते हैं. यहां पर दर्शन करने वाले भक्त मातारानी पर सोने-चांदी के जेवर और नकदी भेंट चढ़ाते हैं. खास बात तो ये है कि दिवाली महापर्व पर पूरे पांच दिन तक इस मंदिर में दीपोत्सव धूमधाम से मनाया जाता है. कहते हैं कि, इन पांच दिनों में मंदिर को भक्तों की ओर से दान किए गए गहनों और नकदी से सजाया जाता है. इसके बाद जो भी भक्त मातारानी के दर्शन करने आता है उसे प्रसाद के तौर पर गहनें और रुपए दिए जाते हैं.

धनतेरस पर दान की जाती है कुबेर पोटली
दिलचस्प बात तो ये है कि, धनतेरस के दिन जो भी महिला माता के दरबार में आती है, उसे कुबेर की पोटली दी जाती है. इसके साथ ही बाकी भक्तों को भी कुछ न कुछ देकर भेजा जाता है. ये एक ऐसा मंदिर है जहां पर कई सालों से गहनें और नकदी चढ़ाने की परंपरा चली आ रही है. माना जाता है कि, पहले के जमाने में राजा और अब भक्त यहां माता के दरबार में गहनें और नकदी चढ़ाते हैं. मान्यता है कि जो भी शख्स पूरी श्रद्धा के साथ मां के चरणों में गहनें और नकदी चढ़ाता है, उस पर हमेशा महालक्ष्मी की कृपा बरसती रहती है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment