दिन के अनुसार माथे पर लगाएं तिलक, मिलेंगे कई फायदे - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

16 November 2020

दिन के अनुसार माथे पर लगाएं तिलक, मिलेंगे कई फायदे

 

तिलक

सनातन धर्म में बताया गया है कि सभी को तिलक लगाना चाहिए। हिन्दू धर्म में मान्यता है कि सभी हिन्दुओं को मस्तक पर तिलक जरूर लगाना चाहिए। वैज्ञानिकों ने भी तिलक लगाने को सही बताया है। कहा जाता है कि मस्तक पर दोनों भौहों के बीच में आज्ञा चक्र होता है। रोजाना इस स्थान पर तिलक लगाने से चक्र का स्पर्श होता है। ऐसा करने से यह चक्र जागृत हो जाता है। इसके जाग्रत होने कारण बौद्धिक क्षमता बढ़ती है और एकाग्रता में वृद्धि होती है। ऐसी मान्यता है कि तिलक को हमेशा दिन के हिसाब से लगाना चाहिए।

सोमवार: प्रत्येक दिन किसी न किसी देवी देवता को समर्पित होता है। सोमवार का दिन भगवान शिव और चंद्रमा का दिन माना जाता है। चन्द्रमा इस दिन का स्वामी ग्रह होता है। चंद्रमा को मन का कारक ग्रह कहा गया है। इस दिन सफ़ेद चन्दन का तिलक लगाना चाहिए। यह मन को नियंत्रित रखकर मस्तिष्क को शीतल और शांत बनाए रखता है। ऐसा भी माना जाता है कि सोमवार को भस्म का तिलक लगाने से शिव जी की विशेष कृपा मिलती है।

मंगलवार: मंगलवार को हनुमानजी का दिन माना जाता है। ग्रह मंगल को मंगलवार का स्वामी माना जाता है। मंगल लाल रंग का ग्रह है इसलिए यह लाल रंग का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसा मान्यता है कि इस दिन लाल चंदन या फिर चमेली के तेल में घुले हुए सिंदूर का तिलक लगाना चाहिए। इस तिलक को लगाने से ऊर्जा और कार्यक्षमता बढ़ती है। इससे दिन शुभ होता है।

बुधवार: बुधवार का दिन भगवान गणेश और मां दुर्गा का दिन होता है। बुधवार का ग्रह स्वामी बुध है। इस दिन सूखे सिंदूर का तिलक लगाने से बौद्धिक क्षमता में वृद्धि होती है।

गुरुवार: गुरुवार का दिन बृहस्पति का होता है। इस दिन को भगवन दत्तात्रेय का दिन भी माना जाता है। बृहस्पति ग्रह इस दिन का स्वामी ग्रह है। बृहस्पति को पीला या सफेद मिश्रित पीला रंग अतिप्रिय है। इस दिन सफेद चंदन की लकड़ी को पत्थर पर घिसकर उसमें केसर मिलाकर तिलक लगाने से मन में पवित्र और सकारात्मक विचार आते हैं। जिससे दिन तो शुभ रहता ही है साथ में आर्थिक परेशानी का हल भी निकल जाता है।

शुक्रवार: शुक्रवार का दिन लक्ष्मीजी का दिन होता है। शुक्र ग्रह इस दिन का ग्रह स्वामी है। इस दिन लाल चंदन लगाना चाहिए। इससे तनाव दूर हो जाता है और भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्धि होती है। शुक्रवार के दिन यदि लाल चन्दन न हो तो सिंदूर भी लगा सकते हैं।

शनिवार: शनिवार का दिन भैरव, शनि और यमराज को समर्पित है। शनि ग्रह इस दिन के ग्रह स्वामी हैं। शनिवार के दिन विभूति, भस्म या लाल चंदन लगाना चाहिए। इसको लगाने से भैरव खुश रहते हैं। इससे दिन भी शुभ रहता है।

रविवार: रविवार का दिन भगवान विष्णु और सूर्य का होता है। इस दिन के ग्रह स्वामी हैं सूर्य हैं। इस दिन लाल चंदन लगाएं। लाल चन्दन न हो तो हरि चन्दन लगाएं। इससे मान-सम्मान बढ़ता है और निर्भयता भी आती है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment