दुनिया का सबसे बड़ा ठग निकला चीन, अपने ही मित्र देशों को ऐसे लगाया अरबों का चूना - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

07 November 2020

दुनिया का सबसे बड़ा ठग निकला चीन, अपने ही मित्र देशों को ऐसे लगाया अरबों का चूना

 

नई दिल्ली। चीन दुनिया पहला ऐसा देश है, जिसने अपने ही मित्र देशों को सबसे ज्यादा ठगा है। कोरोना काल के दौरान कई देशों को चीन ने ख़राब पीपीई किट बेच दी थी। वहीं अब जानकारी सामने आ रही है कि, चीन ने अपने कई मित्र देशों को कई बार काफी ख़राब हथियार बेचकर उन्हें धोखा दिया है। इसकी वजह से चीन को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी शर्मिंदा होना पड़ा हैं। चीन विश्व में 5वां सबसे बड़ा देश है जो हथियारों का निर्यात करता है। वहीं इन दोषपूर्ण हथियारों के निर्यात को लेकर उनकी किरकिरी भी शुरू हो गई है।

बांग्लादेश को चीन ने वर्ष 2017 में 1970 में मिंग श्रेणी की 035G पनडुब्बिया 100 मिलियन डॉलर की बेची थीं। इनका इस्तेमाल युद्ध की ट्रेनिंग में होता है लेकिन इन पनडुब्बियों की हालत इतनी ख़राब हो गई थी कि ये सर्विसिंग करने लायक भी बची थीं। वहीं वर्ष 2003 में चीन से खरीदी गई मिंग क्लास की पनडुब्बी दुर्घटना का शिकार हो गई। इसके बाद बांग्लादेश ने चीन से दो युद्धपोत BNS उमर फारूक और BNS अबू उबैदाह खरीदे थे लेकिन उसके भी नैविगेशन रडार और गन सिस्टम में तकनीकी गड़बड़ी थी।

Type 035 Chinese PLAN attack submarines - NATO Ming class

नेपाल ने चीन से अपनी एयरलाइंस के लिए चीन से Y12e और MA60 छह विमानों को ख़रीदा था। इन विमानों को बांग्लादेश ने लेने से इंकार कर दिया था, जिसे बाद में नेपाल को चीन ने बेच दिया था लेकिन ये विमान जब नेपाल पहुंचे तो उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ। इन विमानों में तो स्पेयर पार्ट्स भी उपलब्ध नहीं थे।

Xian MA60 - Wikipedia

चीन और पाकिस्तान की गहरी दोस्ती दुनिया को दिखती हो लेकिन सच ये है कि चीन किसी भी देश का सगा नहीं है। पाकिस्तान को भी चीन खराब सैन्य सामानों की सप्लाई कर चुका है। चीन ने पाकिस्तान को एफ -22 पी युद्धपोत दिया था लेकिन वो भी कुछ दिनों बाद ख़राब हो गय।

चीन ने पाकिस्तान को बेचा अपना सबसे बेहतरीन लड़ाकू जहाज, दोनों देशों के बीच  गहरे हो रहे हैं रिश्ते - Kya Hai Ye | DailyHunt

चीन ने अपने मित्र देश केन्या को बख्तरबंद गाड़ियां दी थीं, खास बात ये है कि जब इन गाड़ियों के टेस्ट के लिए चीन के सेल्स रिप्रजेंटेटिव को गाड़ियों में बैठने के लिए कहा गया तो उन्होंने ही बैठने से इंकार कर दिया। केन्या को इन गाड़ियों को उस वक़्त बेहद जरूरत थी लेकिन चीन से बख्तरबंद गाड़ियां लेना उसे महंगा पड़ा और उसके कई सैनिकों को इन गाड़ियों की वजह से अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

चीन ने इन देशों को लगाया चूना, बेच डाले खराब हथियार - china imposed lime on  these countries sold bad weapons

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment