धनतेरस से लेकर दिवाली और भाई दूज तक सभी त्योहारों की पूजा का क्या है शुभ मुहूर्त? यहां जानिए… - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

12 November 2020

धनतेरस से लेकर दिवाली और भाई दूज तक सभी त्योहारों की पूजा का क्या है शुभ मुहूर्त? यहां जानिए…

 

PUJA TIME DIWALI BHAI DOOJ

हिंदू धर्म के सबसे बड़े त्योहार दिवाली की तैयारियां जोरों-शोरों पर है। धनतेरस से लेकर भाई दूज तक पांच दिनों तक हर घर में रौनक होती है। पांच दिनों तक लोग अपने घरों में पूजा करते हैं। धनतेरस के दिन बर्तन से लेकर सोना-चांदी तक खरीदा जाता है। वहीं इसके बाद छोटे दिवाली, दिवाली पर भी पूजा होती है। दिवाली के अगले दिन गोवर्धन पूजा होती है और फिर उसके अगले दिन भाई दूज का त्योहार मनाया जाता है।

इस बार त्योहारों की तारीख को लेकर काफी कंफ्यूजन है। आइए हम आपको इन सभी त्योहारों की सही तारीख और शुभ मुहूर्त के बारे में बताते हैं…

धनतेरस

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। धनतेरस का त्योहार इस बार 13 नवंबर को मनाया जाएगा। त्रयोदशी तिथि 12 नवंबर 2020 को शाम 09 बजकर 30 मिनट लग रही है और ये समाप्त 13 नवंबर 2020 को शाम 05 बजकर 59 मिनट पर होगी।

  • धनतेरस पूजा मुहूर्त- शाम 05 बजकर 28 मिनट से लेकर 05 बजकर 59 मिनट तक
  • कुल अवधि 30 मिनट है
  • प्रदोष काल मुहूर्त है शाम 5 बजकर 28 मिनट से लेकर रात 8 बजकर 7 मिनट तक
  • वृषभ काल मुहूर्त शाम 5 बजकर 34 मिनट से लेकर शाम 7 बजकर 29 मिनट तक है

छोटी दिवाली

छोटी दिवाली को नरक चतुर्दशी भी कहते है। औम तौर पर ये दिवाली से एक दिन पहले होती है। कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी का प्रारंभ 13 नवंबर शाम 05 बजकर 59 मिनट से हो रहा है और ये समाप्त 14 नवंबर 2 बजाकर 18 मिनट पर होगी। ऐसे में छोटी दिवाली 14 नवंबर को मनाई जाएगी।

  • नरक चतुर्दशी पर स्नान का शुभ मुहूर्त सुबह 05 बजकर 23 मिनट से लेकर सुबह 06 बजकर 43 मिनट तक है।
  • कुल अवधि 01 घंटे 20 मिनट है।

दिवाली

दिवाली का त्योहार भी 14 नवंबर को ही मनाया जाएगा। अमावस्या लगने के बाद दिवाली मनाई जाएगी। 15 नवंबर सुबह 10 बजे तक ही अमावस्या है और रात में गणेश जी और लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है। इस वजह से दिवाली 14 नवंबर को मनाई जाएगी।

  • लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त- शाम 05 बजकर 30 मिनट से शाम 07 बजकर 25 मिनट तक
  • कुल अविध 01 घंटे 55 मिनट
  • प्रदोष काल मुहूर्त शाम 05 बजकर 27 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 6 मिनट
  • वृषभ काल मुहूर्त शाम 05 बजकर 30 मिनट से लेकर शाम 07 बजकर 25 मिनट तक रहेगा।

गोवर्धन पूजा 

15 नवंबर को गोवर्धन पूजा है। हिंदू धर्म में इस पूजा का विशेष महत्व होता है। ये पूजा दिवाली के अगले दिन होती है। ऐसाी मान्यता है कि भगवान श्री कृष्ण ने इस दिन अपनी छोटी उंगली पर गोवर्धन पर्वत को उठाकर भगवान इंद्र को हराया था। प्रतिपदा तिथि प्रारंभ 15 नवंबर सुबह 10 बजकर 36 मिनट पर और समाप्त 16 नवंबर 2020 को सुबह 07 बजकर 6 मिनट तक होगी।

  • गोवर्धन पूजा का सायंकाल मुहूर्त- दोपहर 03 बजकर 19 मिनट से शाम 05 बजकर 27 मिनट तक
  • कुल अवधि 2 घंटे 9 मिनट

भाई दूज

भाई दूज कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया पक्ष तिथि को भाई दूज का त्योहार मनाया जाता है। भाई दूज पर तिलक का समय दोपहर 01 बजकर 10 मिनट से 3 बजकर 18 मिनट तक है।

Disclaimer- हमारी द्वारा दी गई ये जानकारियां विभिन्न स्त्रोतों से एकत्रित की गई है। बॉलीकॉर्न इनकी पुष्टि नहीं करता। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment