प्रशांत किशोर की वजह से ममता बनर्जी की पार्टी दो फाड़, ‘बागी मंत्री’ से मिले पीके! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

19 November 2020

प्रशांत किशोर की वजह से ममता बनर्जी की पार्टी दो फाड़, ‘बागी मंत्री’ से मिले पीके!

 

प्रशांत किशोर की वजह से ममता बनर्जी की पार्टी दो फाड़, ‘बागी मंत्री’ से मिले पीके!

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, इसके साथ ही राजनैतिक माहौल भी गरम होता जा रहा है, पश्चिम बंगाल में रणनीति तय करने के लिये आज बीजेपी की बैठक है, साथ ही लेफ्ट-कांग्रेस भी मीटिंग में जुटी है, सत्ताधारी टीएमसी के लिये चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर रास्ता तय करने वाले हैं, उनकी भूमिका से पार्टी में असंतोष बढ रहा है, पार्टी के कुछ विधायकों को पीके से ऐतराज है, उनकी आवाज तक और बुलंद हो गई, जब पीके नाराज टीएमसी नेता सुवेंन्दु अधिकारी से मिलने में नाकाम रहे।

नाराज नेता से मुलाकात
रिपोर्ट के मुताबिक तृणमूल का आखिर में सुवेंन्दु अधिकारी से संपर्क हो गया है, पार्टी के एक सांसद ने बताया कि मंत्रियों के साथ एक गुप्त मीटिंग हुई है, हो सकता है कि आज भी एक हाई लेवल मीटिंग हो, उधर बीजेपी पश्चिम बंगाल में अपना पूरा जोर लगा देना चाहती है, दिल्ली से यहां एक शीर्ष नेता पहुंचे हैं और राज्य को पांच भागों में बांटकर नीति बनाई जा रही है।

बंगाल ने मन बना लिया है
बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि बंगाल ने मन बना लिया है, कि ममता बनर्जी को बाहर का रास्ता दिखाना है, बीजेपी को 200 सीटें देनी है, दिलीप घोष को बंगाल में बीजेपी चीफ बनाये जाने के सवाल पर उन्होने कहा कि कम से कम हम भाड़े के लोगों से काम नहीं कराते, हमारे पार्टी कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल में कार्य करने पहुंच रहे हैं, टीएमसी सांसद सौगाता रॉय ने कहा कि अमित शाह का टारगेट केवल दिवःस्वप्न है, जो वो कहते हैं कि उनकी पार्टी के लोग भी रटने लग जाते हैं, उन्हें गंभीरता से लेने की जरुरत नहीं है, पार्टी में पीके बढते विरोध पर भी उन्होने चिंता नहीं जताई।

क्या पीके से राजनीति सीखेंगे
टीएमसी विधायक नियामत शेख ने सवालिया लहजे में कहा क्या हम पीके से राजनीति सीखेंगे, कौन है ये पीके, अगर टीएमसी का नुकसान हुआ, pk (2)तो ये पीके की गलती होगी, कूच बिहार के विधायक मिहिर गोस्वामी भी अपना असंतोष जता चुके हैं, डेढ महीने पहले पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे चुके हैं, उन्होने कहा कि पार्टी को एक ठेकेदार के हाथ में दे दिया गया है, एक कॉर्पोरेट कंपनी आईपैक अब पार्टी के लोगों को निर्देश देगी, उसकी बातें मानना मेरे लिये पीड़ादायक है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment