BJP की वजह से राजनीति से संन्यास लेने जा रहीं मायावती? दे दिए ये बड़े संकेत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

02 November 2020

BJP की वजह से राजनीति से संन्यास लेने जा रहीं मायावती? दे दिए ये बड़े संकेत

 

किसी सियासी सूरमा ने क्या खूब कहा कि सियासत में जो संकेतों को समझ लेता है। वो तो जनाब महारत हासिल कर लेता है। खैर, सियासी संकेतों की इसी कश्मकश के बीच अब बसपा सुप्रीमो मायावती ने कह दिया है कि भले ही मुझे  राजनीति से रूखसत होना मंजूर है, लेकिन बीजेपी के साथ गठबंधन कतई संभव नहीं है। ऐसा कभी नहीं होगा और बिल्कुल भी नहीं होगा। दिल्ली में प्रेसवार्ता को संबोधित करने के दौरान बसपा सुप्रीमो ने यह बात खुद कही है। उन्होंने कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए। कितनी भी भारी कीमत मुझे चुकानी पड़ जाए, लेकिन बीजेपी के साथ मुझे गठबंधन गवारा नहीं।

उधर, सपा के संदर्भ में उन्होंने कहा कि जिस तरह  सपा और कांग्रेस मिलकर मेरे बयानों का सहारा लेकर मुस्लिम समुदाय को मेरे खिलाफ भड़काने का काम कर रहे हैं, तो ऐसी स्थिति में मैं मुस्लिम समुदाय को आश्वस्त करतीं हूं कि वे निशिचन्त हो जाए, चूंकि चाहे कुछ भी हो जाए। भले ही मुझे राजनीति से रूखसत होना पड़ जाए, लेकिन  बीजेपी के साथ गठबंधन कतई  स्वीकार नहीं होगा। सपा व कांग्रेस मिलकर जिस तरह मुस्लिमों के बीच मेरा दुष्प्रचार कर रहे हैं यह बिल्कुल निराधार है।

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया था?  
यहां पर हम आपको बताते चले कि मायावती ने बीते दिनों एमएलसी चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी को हराने हेतु जिस तरह का बयान दिया था। आजकल उसी का सहारा लेकर सपा और कांग्रेस मुस्लिमों को बसपा सुप्रीमो के खिलाफ भड़काने में जुट गए हैं। याद दिला दें कि गत दिनों मायावती ने कह दिया था कि एमएलसी चुनाव में सपा को  हराने के लिए अगर हमें  बीजेपी  को भी वोट देना पड़े तो हमें मंजूर है। बस.. फिर क्या  था.. उनके इसी बयान का सहारा लेकर सपा और कांग्रेस अब बसपा के खिलाफ  लामबंद हो चुके हैं,  जिसके बाद  अब मायावती ने पूर्व में दिए  अपने बयान को लेकर पूरी स्थिति  स्पष्ट कर दी है।

बीजेपी पर लगाया आरोप 
इसके साथ ही मायावती ने बीजेपी पर निशाना भी साधा है।  उन्होंने कहा कि बीजेपी मेरे ऊपर दबाव बनाने की कोशिश कर रही थी। मैं प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रह चुकीं हूं। मेरे कार्यकाल में कभी-भी हिंदू-मुस्लिम दंगा नहीं हुआ।  बीजेपी ने सीबीआई और ईडी का सहारा लेकर मुझे दबाने की कोशिश की, लेकिन मैं उनके आगे कभी न झुकी। बता दें कि उन्होंने यह बयान मुस्लिम वोटरों को रिझाने के संदर्भ में दिया। 


आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment