कोरोना में डायबिटीज बना मरीजों के लिए खतरा, ये 9 लक्षण है बीमारी के संकेत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

15 November 2020

कोरोना में डायबिटीज बना मरीजों के लिए खतरा, ये 9 लक्षण है बीमारी के संकेत

 

डायबिटीज

14 नवंबर को हर साल वर्ल्ड डायबिटीज डे मनाया जाता है। दुनिया भर में इस दिन लोगों को डायबिटीज से जागरूक करने की कोशिश की जाती है ताकि लोग इस बीमारी से बच सके। खास बात ये है कि अब लोगों का लाइफस्टाइल काफी ज्यादा बदल गया है। ऐसे में लोग डायबिटीज की बीमारी के काफी ज्यादा चपेट में आ रहे है। इतना ही नही, दुनियाभर में कोरोना वायरस भी फैल गया है। जिस वजह से डायबिटीज के मरीज दिन- ब- दिन खतरे में आते जा रहे है। ऐसे में आज हम आपको डायबिटीज से जुड़ी बातें बताते है। जिसमें इस बीमारी के लक्षण शामिल है लेकिन उससे पहले ये भी जानना जरूरी है कि डायबिटीज कितने प्रकार का है।

डायबिटीज के टाइप
दरअसल डायबिटीज दो प्रकार के होते है। जिससे इस बात का अंदाजा लगाया जाता है कि मरीज कितना ज्यादा बीमारी के चपेट में आ चुका है। टाइप 1 डायबिटीज शुरुआत दौर है। जिसमें लक्षण तुरंत दिखाई देने लगते है। जिससे मरीज का आसानी से इलाज हो सकता है। इसके बाद टाइप 2 डायबिटीज होता है। जिसके लक्षण कई दिनों के बार मरीज में देखने को मिलते है। टाइम 2 की तुलना में टाइम 1 डायबिटीज को ज्यादा गंभीर माना जाता है। इन दोनों टाइप के मरीजों में कुछ ऐसे लक्षण दिखाई देते है और जिन्हें चेतावनी के तौर पर देखा जाता है। वहीं, अब बात करते है लक्षण की। जिसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

भूख और थकान लगना- डायबिटीज के मरीजों को बहुत जल्दी-जल्दी भूख लगती है लेकिन साथ ही उन्हें थकावट भी काफी ज्यादा होती है। दरअसल हमारा शरीर खाने को ग्लूकोज में बदल देता है। जिससे हमारे शरीर में ताकत मिलती है लेकिन कोशिकाओं को ग्लूकोज लेने के लिए इंसुलिन की जरूरत पड़ती है। डायबिटीज में शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बना पाता है जिसकी वजह से शरीर में हर समय थकान रहती है और मरीज को बहुत जल्दी-जल्दी भूख लगती हैं।

बार-बार पेशाब और प्यास लगना- डायबिटीज के मरीजों के बार-बार वॉशरूम जाना पड़ता है। ग्लूकोज किडनी के रास्ते शरीर में अवशोषित हो जाता है लेकिन डायबिटीज के मरीजों के मरीजों ब्लड शुगर बढ़ जाने की वजह से किडनी सही तरीके से काम नहीं कर पाती है और मरीज को बार-बार पेशाब लगता रहता है। जल्दी-जल्दी वॉशरूम जाने की वजह से मरीज को बहुत प्यास लगती है।

मुंह सूखना और खुजली होना- डायबिटीज के मरीजों को बार-बार मुंह भी सुखने की परेशानी झेलनी पड़ती है। इतना ही नहीं, अगर आपको डायबिटीज है तो आपकी स्किन पर भी खुजली होने लगती है। बार-बार पेशाब जाना पड़ता है जिस वजह से शरीर में तरल पदार्थ की मात्रा कम होती जाती है। जिस वजह से मुंह सुखता है और मुंह सुखने की वजह से शरीर की नमी कम होती है। जिसका नतीजा ये है कि आपकी त्वचा में खुजली चलती है।

धुंधला दिखना- बार-बार पेशाब जाना पड़ता है। ऐसे में शरीर में तरल पदार्थों के बदलावों का असर सीधा आखों पर होता है। डायबिटीज के मरीजों की आंखों में सूजन आने लगती है। इतना ही नहीं, मरीज को धुंधला भी दिखाई देने लगता है।

इंफेक्शन होना- डायबिटीज के दौरान मरीजों क स्किन इंफेक्शन भी हो जाता है। जिस वजह से अगर मरीज को चोट लग जाती है या फिर घाव हो जाता है तो उस भरने में काफी समय लग जाता है। कभी-कभी पैरों में दर्द भी होने लगता है।

वजन कम होना- डायबिटीज के मरीजों को भूख ज्यादा लगती है लेकिन उस खाने से उन्हें ताकत नहीं मिलती। जिस वजह से उनका वजन तेजी से घटना है। कई लोग ऐसे में अपने खाने में भी बदलाव करते है लेकिन आपको बता दे कि आप कितने भी बदलाव कर लें। आपका वजन अपने आप ही घटने लग जाएगा।

source

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment