अवैध तरीके से रह रहे 183 पाकिस्तानियों का वीजा हुआ रद्द, सूची में आईएसआई चीफ की बहन का नाम भी शामिल - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

02 November 2020

अवैध तरीके से रह रहे 183 पाकिस्तानियों का वीजा हुआ रद्द, सूची में आईएसआई चीफ की बहन का नाम भी शामिल

 

फ्रांस में पिछले दिनों हुई आतंकी घटनाओं के बाद अब सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं, इसी क्रम में अब देश अवैध रूप से रह रहे हैं लोगों की पहचान कर उन्हें देश से बाहर करने का काम शुरू हो चुका है। फ्रांस ने देश में अवैध रूप से रह रहे 183 पाकिस्तानियों का वीजा रद्द कर दिया है। इन लोगों में पाक खुफियां एजेंसी आईएसआई प्रमुख शुजा पाशा की बहन का भी नाम शामिल हैं। फ्रांस ने 183 लोगों में से 118 लोगों को पाकिस्तान वापस भेज दिया है। इसकी जानकरी खुद पाकिस्तान के वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट करके दी है। वहीं आईएसआई चीफ की बहन को फ्रांस में अस्थायी तौर पर रहने की अपील पाकिस्तान की तरफ से की गई है।

पाकिस्तान दूतावास का यह भी कहना है कि, जिन लोगों को फ्रांस ने जबरन देश बाहर निकालकर पाकिस्तान भेजा है उन सभी के पास वैध कागजात मौजूद थे। वहीं पाशा की बहन को लेकर कहना है कि, फ्रांस में वो अपनी सास की सेवा कर रही है इसलिए उसे वहीं रहने दिया जाए। गौरतलब है कि, फ्रांस में बीते दिनों एक शिक्षक की गर्दन काटकर उसकी हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद हालात सही नहीं हुए हैं। देश में आतंक की दूसरी घटना नीस शहर में हुई जिसमे के हमलवार ने चर्च में तीन लोगों की हत्या कर दी और एक महिला का तो सिर ही उसके धड़ से अलग कर दिया था।

देश में हुई इन आतंकी घटनाओं के बाद राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने इस्लामिक आतंकवाद को खत्म करने का एलान कर दिया था। इसके बाद से ही दुनिया भर के मुस्लिम देशों में राष्ट्रपति इमैनुएल के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। मैक्रों के बयान को लेकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने उन पर निशाना साधते हुए कहा था कि, राष्ट्रपति मुसलमानों को भड़काने का काम कर रहे हैं। इसके बाद ही फ्रांस ने 183 पाकिस्तानियों विजिटर्स का वीजा रद्द किया है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment