इस बिहारी शख्स की अंग्रेजी सुनकर अच्छे-अच्छे अंग्रेज सन्न हो जाते हैं, आप भी देखिए ये वायरल video - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, October 30, 2020

इस बिहारी शख्स की अंग्रेजी सुनकर अच्छे-अच्छे अंग्रेज सन्न हो जाते हैं, आप भी देखिए ये वायरल video

 

आज भी बिहार के सुदूर में इलाके में कई ऐसे युवा हैं, जिनकी अंग्रेजी भाषा पर बहुत कमजोर पकड़ हैं, जिसके चलते वे इस भाषा से खौफ खाते हैं। दूरी बनाते हैं। परहेज करते हैं, मगर अब यू समझ लीजिए कि बदलाव की बयार बहना शुरू हो चुकी है। अब बिहार के युवा अंग्रेजी से खौफ नहीं बल्कि उसका दट कर मुकाबला करते हैं। उधर, इस बीच अभी एक शख्स का धमाकेदार वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है, जो ऐसी फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता हुआ नजर आ रहा है, जिसे  सुनकर अच्छे-अच्छे अंग्रेज पानी पीने पर मजबूर हो जाते हैं।

आखिर कौन है ये बिहार शख्स 
बता दें कि अपनी फर्राटेदार इंग्लिश से अच्छों-अच्छों की बोलती बंद करने वाला यह शख्स कहीं और का नहीं बल्कि बिहार के मनिहारी अनुमंडल स्थित गोवागाछी गांव का रहने वाला है। इनका नाम वरूण देव है। वहीं,  बात अगर उनके पेशे की करें तो यह एक स्कूल में प्रधानाचार्य हैं। एक ऐसे इलाकेे से ताल्लुक रखने वाले वरूण, जहां लोग अंग्रेजी भाषा से दूरी बनाए रखते हैं, वहां इन्होंने अंग्रेजी भाषा पर अपनी जबरदस्त पकड़ से कमाल कर दिया है।

वायरल हुआ वीडियो    
इंग्लिश में की गई इनकी क्रिकेट कंमेट्री अभीू सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है।  उनके इस जबरदस्त वीडियो को लोग खूब पसंद कर रहे हैं। लोग इस वीडियो पर अपना खूब रिएक्शन दे रहे हैं। बड़े-बड़े लोग इस वीडियो को खूब पसंद कर रहे हैं। कभी ऑस्ट्रेलियन टून में तो कभी साउथ अफ्रीकन टून में अंग्रेजी बोलकर यह शख्स अभी खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं। इनके इस वीडियो अभी खूब पसंद किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/2039094526307069/videos/674536203499371/

कहां से मिली प्रेरणा 
वरूण बताते हैं कि अपनी अंग्रेजी भाषा को मजबूत करने की प्रेरणा उन्हें अपने बड़े भाई से मिली थी, जो मुंबई में रहते हैं। गुजरते समय के साथ उन्हें यह एहसास होने लगा कि अगर उन्हें जीवन में कुछ अलग और बड़ा करना है, तो अंग्रेजी भाषा पर अपनी पकड़ को मजबूत करना होगा, और फिर इस दिशा में उन्होंने काम करना शुरू कर दिया।वरूण बताते हैं कि जब 1975  में वे पांचवी कक्षा में थे, उस वक्त विश्व कप का फाइनल मैच देखा था।  तभी से उन्होंने अंग्रेजी में क्रिकेट में कंमेट्री करना शुरू कर दिया। फिर आहिस्ता-आहिस्ता  उनकी पकड़ अग्रेजी भाषा  पर एकदम ढांसू होती चली गई।


आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment