चाणक्य नीति : इन तीन बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं मिलेगी असफलता - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 October 2020

चाणक्य नीति : इन तीन बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं मिलेगी असफलता

Acharya Chanakya

चाणक्य नीति, चाणक्य नीति सफलता मन्त्र, चाणक्य नीति कर्म पर भरोसा, आचार्य चाणक्य नीति शास्त्र, चाणक्य नीति सफलता और कर्मचाणक्य नीति, चाणक्य नीति सफलता मन्त्र, चाणक्य नीति कर्म पर भरोसा, आचार्य चाणक्य नीति शास्त्र, चाणक्य नीति सफलता और कर्मजीवन में हर कोई सफल होना चाहता है,लेकिन बहुत ही कम लोग होते हैं जिन्हें सफलता मिलती है। आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने सफलता हासिल करने के लिए तीन बातों पर जोर दिया है। चाणक्य नीति (Chanakya Niti) के मुताबिक अगर किसी इंसान को तरक्की का रास्ता आसान करना है और अपने मकसद में सफल होना है तो, उसे निम्न तीन बातों पर विशेष ध्यान देना होगा।

कभी हार न माने

चाणक्य कहते है कि कभी भी हार नहीं माननी चाहिए। व्यक्ति को जिस क्षेत्र में सफलता चाहिए उसे उसके लिए निरंतर मेहनत करते रहना चाहिए। किसी भी काम को एक दो बार की असफलता के बाद नही छोड़ देना चाहिए। व्यक्ति को तब तक लगे रहना चाहिए जब तक उसे उसका मकसद न मिल जाये। चाणक्य नीति (Chanakya Niti) में कहा गया है कि जब तक इन्सान साहस नहीं दिखाता तब तक वह सफल नहीं होता। व्यक्ति को कभी किस्मत के भरोसे नहीं बैठना नहीं चाहिए। सफलता हमेशा लगातार कोशीश में मिलती है।

कर्म पर भरोसा करें

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) कहते हैं कि व्यक्ति को कर्म पर भरोसा करना चाहिए न की राशि और भाग्य पर। उनके मुताबिक अगर व्यक्ति का कर्म अच्छा और वह लगातार कोशिश कर कर रहा है तो उसे आज नहीं तो कल सफलता मिलती ही है। चाणक्य नीति (Chanakya Niti) में कहा गया है कि कभी भी इन्सान के बुरे वक्त का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए क्योंकि समय बदलने में देर नहीं लगती। जैसे कि कोयला भी समय के साथ हीरा बन जाता है।

बहरे हो जाओ

नीति शास्त्र में कहा गया है अगर कामयाबी पानी है तो बहरे हो जाओ। व्यक्ति को सफलता के रास्ते पर चलते समय दुनिया की बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए क्योंकि संघर्ष के समय दुनिया कुछ न कुछ ऐसा बोल देती है जिससे व्यक्ति का आत्मविश्वास कम होने लगता है और वह अपने मकसद से पीछे हटने लगता है। साथ ही कभी किसी से अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए क्यों कि सबका समय और तरीका अलग होता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment