भूखे और गरीब चीनी वियतनाम जा रहे, अब फजीहत से बचने के लिए चीन सीमा पर दीवार बना रहा - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, October 31, 2020

भूखे और गरीब चीनी वियतनाम जा रहे, अब फजीहत से बचने के लिए चीन सीमा पर दीवार बना रहा


चीन ये दिखाने की कोशिश करता है कि वो सुपरपावर है लेकिन हकीकत ये है कोरोनावायरस के बाद से चीन की हालत बेहद पतली हो गई है। इसके चलते अब चीन से लोग भाग कर वियतनाम जाने लगे हैं क्योंकि वो लोग चीन में भूखे मर रहे थे। इस पूरे कांड को लेकर अब चीन को समझ आ गया है कि इन चाइनीज लोगों के देश छोड़ने से उसकी ही साख की फजीहत हो रही है। इसीलिए अब चीन वियतनाम के बार्डर को सील करने की योजना बना चुका है।

दरअसल, वियतनाम की ओर से कहा गया है कि उसके यहां लगातार प्रवासियों की तादाद बढ़ती जा रही है, जिनकी सबसे बड़ी संख्या चीन से आई हुई है। वियतनाम की पुलिस ने हाल ही में 3 वियतनामी चालकों को 20 विदेशी नागरिकों के साथ गिरफ्तार किया था जो कि लान्ग सन इलाके में पुलिस द्वारा रखे गए हैं। पुलिस द्वारा बताया गया है कि ये सभी चीनी सीमा की ओर से आए हैं। ये केवल एक दिन का नहीं है। हर दिन कुछ ऐसे ही मामले सामने आते हैं जिसमें से कुछ लोग पकड़े जाते हैं और कुछ दाखिल भी हो जाते हैं।

पुलिस को गिरफ्तार हुए इन लोगों से बातचीत में पता चला है कि चीन के दक्षिणी गॉन्गडॉन्ग इलाके में लोगों की नौकरियां गई हैं। हर दिन वियतनाम के अलग अलग इलाकों मे चीन की सीमा से चीनी प्रवासी वापस आ रहे हैं। 20 अक्टूबर को ग्वांग्शी इलाके में 1000 से ज्यादा चीनी श्रमिकों के वीडियोज़ और फोटोज सोशल मीडिया में सामने आए थे। कुछ रिपोर्ट्स बताती हैं कि ऐसे अनेकों श्रमिकों को अक्सर चीनी निवेशित कंपनियां चुपचाप ले जाती हैं और फिर उनसे अपनी कंपनियों में काम कराया जाता है।  मुख्य कंपनियां तो नहीं लेकिन हां कुछ छोटी कंपनियां ऐसा काम काफी बड़े पैमाने पर करती है। पुलिस को कहना है कि हम इस मुद्दे पर उन छोटी कंपनियों से भी संपर्क कर रहे हैं।

हम आपको अपनी रिपोर्ट में पहले भी बता चुके हैं कि चीन से पलायन वियतनाम की ओर काफी तेजी से हो रहा है। चीन की अर्थव्यवस्था को लेकर बीजिंग के निवासी सुन याचीन का कहना था कि चीन में कम्युनिस्ट पार्टी के राज के दौरान लगातार आर्थिक स्थिति बिगड़ती ही जा रही है। उन्होंने कहा कि वियतनाम में लगातार चीनीयों का जाना इस बात के संकेत है कि चीन में अब अवसरों की बहुत कमी है।

वियतनाम में जिस तरह से चीन के लोग लगातार प्रवास कर रहे है उससे वियतनाम काफी आक्रमक हो गया है। वियतनाम द्वारा लगातार भूखे-नंगे इन चाइनीज लोगों को लेकर चीन की आलोचना की जा रही है। वियतनाम के लोकल अधिकारी और सुरक्षाकर्मी इसे एक बड़ा खतरा मानते हैं जिससे न केवल वियतनाम के लोगों की जगह ले रहे हैं, बल्कि देश में अस्थिरता भी फैला रहे हैं।

अपने आप को सुपरपावर मानने वाले चीन के लिए ये  बेहद ही शर्मनाक बात है कि वियतनाम उसे उसके नागरिकों के चलते लताड़ रहा है। चीन को कोरोनावायरस फैलाने को लेकर अमेरिका, भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया के साथ बड़े विवाद चल रहे हैं। चीन की अर्थव्यवस्था पहले ही बर्बाद है ऐसे में उसके नागरिकों का वियतनाम में पलायन करना और वियतननाम द्वारा लगातार इस मुद्दे पर चीन को घेरना चीन के लिए एक वैश्विक बेइज्जती की तरह है।

अपनी इस बेइज्जती से बचने के लिए ही चीन वियतनाम सीमा पर लगभग 2 मीटर की ऊंचाई की कंकरीट की दीवार बना रहा है जिससे कोई उसे कुछ बोल न सके। चीन का ये रवैया मानवीयता के अनुसार तो गलत है लेकिन वो मजबूर है। उसके भूखे नंगे लोग वियतनाम जाकर उसकी बेइज्जती करा रहे हैं। इसलिए अब वो उन लोगों को रोकने के लिए ही ये दीवार बना रहा है, जिससे न कोई बाहर जाएगा, न बदनामी होगी, जिसको मरना होगा वो यही मरेगा।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment