बेटे आकाश ने पूछा था मुकेश अंबानी से सवाल- ‘जब कैलकुलेटर है तो टेबल क्यों याद करें’, मिला ये जवाब - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

17 October 2020

बेटे आकाश ने पूछा था मुकेश अंबानी से सवाल- ‘जब कैलकुलेटर है तो टेबल क्यों याद करें’, मिला ये जवाब

 

बेटे आकाश ने पूछा था मुकेश अंबानी से सवाल- ‘जब कैलकुलेटर है तो टेबल क्यों याद करें’, मिला ये जवाब

मुकेश अंबानी दुनिया के पांचवें सबसे अमीर आदमी है । लेकिन वो अपने बिजनेस के साथ अपने परिवार के लिए भी जाने जाते हैं । मुकेश अंबानी फैमिली मैन हैं, बिजनेस पर जितना ध्‍यान दिया उतना ही उन्‍होंने अपने बच्‍चों की पैरेंटिंग पर भी ध्‍यान दिया है । वो और नीता, बच्‍चों को हमेशा डाउन टू अर्थ रखने की कोशि करते रहे हैं, उन्‍होंने अपने तीनों बच्चों को कभी भी इस बात का अहसास नहीं होने दिया कि उनके पास इतना पैसा है। ये बात खुद अंबानी दंपति अपने कई टीवी इंटरव्यूज में बता चुके हैं।

पढ़ाई सबसे जरूरी थी
मुकेश अंबानी ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू 
में बताया था कि बच्चों में कुछ एक्सट्रा तो होना चाहिए लेकिन पढ़ाई की कीमत पर नहीं। बकौल मुकेश अंबानी उनके तीनों बच्चे इस बात को समझते थे और वह कभी टॉपर नहीं रहे लेकिन उनके फंडामेंटल्स हमेशा क्लियर रहे।
बेटे ने पूछा था सवाल
मुकेश अंबानी ने एक वाकया सुनाते हुए कहा था कि एक दिन 
उनका बड़ा बेटा आकाश उनसे पूछने लगा कि पापा जब कैलकुलेटर है तो हम टेबल क्यों याद करते हैं। मुकेश अंबानी ने आकाश के सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि बेटा हम याद इसलिए करते हैं कि सबकुछ हमारे दिमाग में ही सेट हो जाए। मुकेश अंबानी आगे बताते हैं कि उनके समझाने का आकाश पर इतना असर हुआ कि वह हर रात सोने से पहले सारे टेबल्स, मल्टिप्लिकेशन औऱ डिविजन याद करके सोया करता था ।
साथ पढ़ते थे
मुकेश अंबानी और नीता अंबानी बताते हैं बच्चों को 
पढ़ाई का महत्व समझाने के लिए वह भी उनके साथ पढ़ते थे। नीता अंबानी ने अपने एक इंटरव्‍यू में बताया था कि वो अपने बच्‍चों को पैसों की कमीत समझाना चाहती थीं, इसलिए बचपन में वो उनको बहुत सोच-समझकर पैसे खर्च करने के लिए देती थीं । बहुत समय तक बच्‍चों को सिर्फ 5 
रुपए ही पॉकेटमनी के तौर पर दिए जाते थे । नीता और मुकेश के तीनों बच्‍चे, आकश-अनंत और ईशा आज अपने पैरों पर खड़े हैं और पिता के बिजनेस में अपना योगदान दे रहे हैं ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment