हाथरस कांड : चश्मदीद का दावा, लड़की चीख रही थी और पास में ही खड़े थे मां और भाई - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

16 October 2020

हाथरस कांड : चश्मदीद का दावा, लड़की चीख रही थी और पास में ही खड़े थे मां और भाई

HATHRAS CASE

हाथरस। हाथरस केस (Hathras case) में जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही हैं वैसे-वैसे हर रोज कोई न कोई न्य खुलासा हो रहा है। कुछ लोगों ने तो घरवालों पर ही लड़की को मारने का आरोप लगाया है। इस मामले के अब तक कई लोग मीडिया के सामने आकर बयान भी दे चुके हैं। इसी कड़ी में अब एक और शक्स सामने आया जो कह रहा है कि वह वारदात वाली जगह पर सबसे पहले पहुंचा था, तब उसने जो देखा वह काफी दर्दनाक था। उस समय लड़की के पास उसकी मां और भाई के सिवा कोई और नहीं था। वहीँ लड़की जमीन पर पड़ी चीख रही थी। उसने दावा किया की मौके पर पहुँचने वाला वह पहला शख्स है। जी हां हम बात कर रहे हाथरस (Hathras) के उस कांड की जिसने पूरे देश में गुस्सा भर दिया। लोग एक बार फिर सडकों पर उतर आये और लड़कियों की सुरक्षा की मांग करने लगे। घटना की जांच चल रही है,लेकिन अभी कुछ भी सामने नहीं आया। इस बीच विक्रम नाम के एक शक्स ने सामने आकर दावा किया है कि वह वारदात वाली जगह पर सबसे पहले पहुंचा था।

विक्रम ने बताया की जहां पीडिता गंभीर हालत में मिली थी, विक्रम वहां से चंद कदम की दूरी पर अपने खेत में चारा काट रहा था, तभी उसे लड़की की चीख सुनाई दी तो वह भाग कर मौके पर पहुंचा। विक्रम का दावा है कि जब वह मौके पर पहुंचा तो उसने देखा कि लड़की खेत में जमीन पर पड़ी थी और वहीं पास में लड़की का भाई और उसकी मां खड़ी थी। विक्रम के मुताबिक जब वह मौके पर पहुंचा तो पीड़ित लड़की का भाई घबरा गया। वह तुरंत वहां से भाग कर लवकुश और उसकी मां को बताने वहीं उसके खेत पर चला गया गया। विक्रम ने बताया कि लड़की के गले पर गहरा चोट का निशान था। विक्रम ने बताया कि लवकुश की मां को बुलाने के बाद लडकी का भाई मौके से जा चुका था। लड़की के साथ सिर्फ उसकी मां रह गयी थी।

14 सितंबर को घटी थी घटना 

विक्रम कहते हैं कि जब वह मौके पर पहुंचा तो पीड़ित लड़की की मां ने कहा जाओ मेरे लड़के को बुला लाओ, तब मैं भाग कर उसके घर गया और लड़की के भाई से कहा ‘चलो तुम्हारी बहन की हालत खराब है।’ इस पर उसने कहा-‘अभी नहीं जाऊंगा,जब पांच छह लोग आ जाएंगे तब मैं आऊंगा।’ विक्रम का कहना है कि उसके बाद वह अपने घर आया और सब गांव वालों को लड़की के बारे में बताया, फिर मौके ए वारदात पर गांव वालों की भीड़ जुटी और पुलिस को सूचना दी गयी। गौरतलब है कि हाथरस में बीते 14 सितंबर को एक लड़की की काफी निर्ममता से हत्या की कोशिश की गयी थी, जिसकी इलाज के दौरान दिल्ली के सफ़दरगंज अस्पताल में मौत हो गयी थी। लडकी के साथ हुई इस घटना के बाद पूरा देश गुस्से से उबल पडा था। हर तरफ से लड़कियों की सुरक्षा और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग उनसे लगी थी। बता दें कि इस घटना की जांच सीबीआई (CBI) कर रही है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment