ग़जब- बिना चूल्हे और गैस के ही ठंडे पानी में डालते ही पक जाता है ये चावल, बिहार के किसान का कमाल! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

24 October 2020

ग़जब- बिना चूल्हे और गैस के ही ठंडे पानी में डालते ही पक जाता है ये चावल, बिहार के किसान का कमाल!

 


आपने बासमती चावल के बारे में सुना होगा और खाया भी होगा. दुनियाभर में ऐसे ही कई तरह की धान होती है. जगह बदलती है, तो उसके साथ धान की वैरायटी भी बदल जाती है. कुछ कम पानी में पकता है, कुछ ज्यादा पानी में पकता है तो कुछ ज्यादा समय में. मगर क्या आपने कभी ऐसे चावल के बारे में सुना है जो गरम पानी की बजाय ठंडे पानी में ही पक जाता हो? नहीं ना. आज हम आपको बताएंगे ऐसी ही एक धान के बारे में जो ठंडे पानी में बन कर तैयार हो जाता है.

ठंडे पानी में पकने वाली ये खास तरह की धान को ‘मैजिक धान’ कहा जाता है. इस धान के बारे में बताने से पहले आइए जानते है, कि आखिर कौन हैं वो शख्स जो ऐसी खास तरह की धान की खेती करता है. बिहार के पश्चिम चम्पारण के हरपुर गांव के रहने वाले 64 साल के विजय गिरी अपने गांव में कई किस्म की धान और गेहूं उगाने के लिए मशहूर हैं. 10वीं तक पढ़ने के बाद विजय अपनी 12 एकड़ की पुश्तैनी जमीन पर धान, गेहूं, दलहन और कई तरह की फसलें उगाने लगे. जब जैविक खेती का ट्रेंड शुरू हुआ तो उन्होंने इसे भी अपना लिया. अब पिछले 3 साल से उन्होंने अपनी खेती को एक अलग ही दिशा दी है. वह अब मैजिक धान के साथ कई अलग तरह की धान की खेती कर रहे हैं.

अब आइए इस मैजिक धान की खासियत जानते हैं. इस धान की खास बात ये है, कि इसके चावल को गैस-चूल्हे में पकाने के बजाए नॉर्मल पानी में 45-60 मिनट में पकाया जाता है. अब आप सोच रहे होंगे कि इस अनोखे चावल का स्वाद कैसा होगा तो आपको बता दें, कि इस चावल का स्वाद नॉर्मल चावल की तरह ही लगता है. साथ ही इस चावल में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है. विजय बताते हैं- ये धान बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए भी सही है क्योंकि ये बाढ़ में बहता नहीं.

दुनियाभर में ऐसी कई चीजें है जो लोगों को हैरान करती रहती हैं. मगर ये ठंडे पानी में पकने वाली धान के बारे में सुन कर हर कोई अचंभित रह जाता है. साथ ही इसके अलग ही फायदे भी हैं. बिना गैस या चूल्हे पर पकने वाला ये चावल अपने आप में विशेष है. अब देखना होगा कि इस चावल की किस्म को कितने लोग अपनाते हैं और अपने यहां इसकी खेती करते हैं. इस विशेष चावल के बारे में आपकी क्या राय है. आपके पास इस तरह की कोई जानकारी हो तो आप हमसे कमेंट बॉक्स में साझा कर सकते हैं.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment