जानिए नोट पर छपी गांधी जी की तस्वीर का इतिहास - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

02 October 2020

जानिए नोट पर छपी गांधी जी की तस्वीर का इतिहास


पहले से अब भारतीय नोटों में काफी बदलाव हुआ है। किन्तु राष्ट्रपित महात्मा गांधी की तस्वीर अब भी नोटों पर वैसी ही है। कुछ साल पहले ही देश में 500 और 2000 के नए नोट आए। इन नोटों पर कई बदलाव तो हुए लेकिन एक चीज अभी भी वैसी की वैसी ही है वह है गांधी जी की तस्वीर। देश 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 151वीं जयंती मनाने जा रहा है। ऐसे अवसर पर हम आपको बताने जा रहे हैं गांधी जी की तस्वीर नोट पर पहली बार कब छापी गई थी–

दरअसर सबसे पहले सन 1969 में राष्ट्रपति महात्मा गांधी की तस्वीर भारतीय नोट पर आई थी। रिजर्व बैंक ने पहली बार गांधी जी की तस्वीर वाले कोमेमोरेटिव यानी स्मरण के तौर पर 100 रुपये के नोट पेश किया था। पहली बार 100 के नोट पर पेश की गई गांधी जी तस्वीर के पीछे सेवाग्राम आश्रम भी था।

बता दें कि गांधी जी के मुस्कराते चेहरे वाली तस्वीर के साथ सबसे पहले 500 रुपये का नोट अक्टूबर 1987 में पेश किया गया था। इसके बाद गांधी जी की यह तस्वीर अन्य नोटों पर भी इस्तेमाल होने लगी। जब पहली बार गांधी जी की तस्वीर नोट पर छपी उस वक्त इंदिरा गांधी देश की प्रधानमंत्री थीं और एलके झा आरबीआई के गवर्नर हुआ करते थे।

भारतीय रुपया 1957 तक 16 आनों में रहा। इसके बाद मुद्रा की दशमलव प्रणाली अपनाई गई और एक रुपए का निर्माण 100 पैसों में किया गया। 1996 से महात्मा गांधी की तस्वीर वाले जो नए नोट चलन में आए उनमें पांच, दस, बीस, सौ, पांच सौ और एक हजार रुपये वाले नोट शामिल थे। इस दौरान अशोक स्तंभ की जगह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का फोटो और अशोक स्तंभ की फोटो नोट के बायीं तरफ निचले हिस्से पर प्रिंट कर दी गई।

बता दें कि महात्मा गांधी की जो तस्‍वीर आज हम नोट पर देखते हैं, वह वायसराय हाउस यानी अब राष्‍ट्रपति भवन में 1946 में ली गई थी। राष्‍ट्रपिता म्यांमार (तब बर्मा) और भारत में ब्रिटिश सेक्रेटरी के रूप में कार्यरत फ्रेडरिक पेथिक लॉरेंस से मुलाकात के लिए पहुंचे थे। वहीं ली गई गांधी जी की तस्वीर को पोट्रेट के रूप में भारतीय नोटों पर पेश किया गया।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment