विनोद खन्ना ने माधुरी के साथ दिया था ऐसा इंटीमेट सीन, एक्ट्रेस को आज भी है पछतावा - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

06 October 2020

विनोद खन्ना ने माधुरी के साथ दिया था ऐसा इंटीमेट सीन, एक्ट्रेस को आज भी है पछतावा

 

विनोद खन्ना (Vinod Khanna) ने शुरुआत तो विलेन के किरदार से की थी मगर बाद में वो हीरो बन गए। एक समय ऐसा था जब बॉलीवुड में विनोद खन्ना का नाम सुपरस्टार में शुमार था। विनोद का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। विनोद खन्ना ने अपने करियर में लगभग 150 फिल्में की। आज उनका जन्मदिन है और इस मौके पर हम उनकी कुछ खास बातें आपको बताने जा रहे हैं। एक खबर के अनुसार फिल्म ‘दयावान’ के दौरान माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) के साथ इंटीमेट सीन (intimate scene) देते हुए इतने बेकाबू हो गए थे कि 20 साल बड़े विनोद खन्ना (Vinod Khanna) ने माधुरी के होठ काट लिए थे। माधुरी और विनोद खन्ना की इस सीन के बाद खूब आलोचना हुई थी। विनोद खन्ना के साथ ऐसे सीन देने पर माधुरी को आज भी पछतावा होता है। इस सीन को करने के लिए माधुरी ने बहुत सोचा जिसके बाद उनके साथ इंटीमेट सीन करने को तैयार हुई थीं।

विनोद खन्ना ने ‘मन का मीत’ फिल्म से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत की थी उन्होंने इस फिल्म में विलेन का किरदार निभाया। उसके बाद 1971 में फिल्म ‘हम तुम और वो’ में लीड रोल के तौर पर काम किया था। अपने करियर से रिटायरमेंट लेकर विनोद खन्ना संन्यासी बन गए थे। गुलजार द्वारा निर्देशित ‘मेरे अपने’ (1971) से विनोद खन्ना को लोकप्रियता मिली। 1999 में उनको फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया था।

एक वक्त ऐसा था जब विनोद खन्ना अमिताभ बच्चन के प्रतिद्वंदी माने जाते थे। दोनों सुपरस्टार्स ने ‘मुकद्दर का सिकंदर’, ‘परवरिश’, ‘अमर अकबर एंथॉनी’ जैसी फिल्मों में एक साथ में काम किया था। उनका नाम बॉलीवुड के सबसे गुड लुकिंग एक्टर्स में शामिल था। 1985 में तलाक के बाद उन्होंने अपना मानसिक संतुलन खो दिया। मगर फिल्मों में फिर से सफलता मिलने और फिर 1990 में कविता दफ्तरी से दूसरी शादी कर वो पुराने विनोद खन्ना बन गए। कविता और विनोद के दो बच्चे हैं। विनोद खन्ना एक्टर होने के अलावा, निर्माता और राजनेता भी थे। वे भाजपा के सदस्य थे और उन्होंने कई चुनाव भी जीते थे और मंत्री भी बने थे।

विनोद खन्ना के पिता उन्हें बिजनेसमैन बनाना चाहते थे तो वहीं वो एक इंजीनियर बनना चाहते थे। जब उन्होंने फिल्म के ऑफर के बारे में बताया तो उनके पिता ने उन पर बंदूक तानकर कहा कि ‘‘यदि तुम फिल्मों में गए तो तुम्हें गोली मार दूंगा।’’ लेकिन बाद में उनकी माँ के समझाने के बाद उन्हें दो साल तक फिल्मों में काम करने की अनुमति दे दी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment