बाबरी मस्जिद के फैसले पर स्वरा भास्कर ने कसा तंज, तो ऋचा चड्ढा ने ऐसे निकाली भड़ास, देखें ट्वीट - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

01 October 2020

बाबरी मस्जिद के फैसले पर स्वरा भास्कर ने कसा तंज, तो ऋचा चड्ढा ने ऐसे निकाली भड़ास, देखें ट्वीट


बाबरी मस्जिद केस (Babri Masjid Case) पर आज आरोपियों को लेकर सुनवाई थी. जिसका फैसला सीबीआई की विशेष अदालत के हाथ में था. इस केस पर बुद्धवार को फैसला सुनाते हुए 32 आरोपियों को मामले से बरी कर दिया गया. जिसमें मुस्लिम समाज से लेकर कई सेलेब्स का गुस्सा फूट पड़ा है और इशारों में उन्होंने तंज भी कसा है. दरअसल 6 दिसंबर साल 1992 में बाबरी मस्जिद के ढांचे (Babri Demolition Case) को गिरा दिया गया था. इस आरोप में कई बड़े नामचीन नेताओं पर आरोप लगा था. जिन पर कोर्ट में सुनवाई थी. कोर्ट में पक्ष-विपक्ष की दलीलें सुनने के बाद न्यायाधीश एस के यादव ने अपने फैसले में कहा कि बाबरी मस्जिद ढहाए जाने की घटना पूर्व नियोजित यानी पहले से गढ़ी गई साजिश नहीं थी. ये सिर्फ एक आकस्मिक घटना थी.

इस फैसले के आने के बाद जहां एक तरफ राजनीति गरम हो गई है तो वहीं दूसरी तरफ एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) से लेकर ऋचा चड्ढा (RichaChadha), अनुभव सिन्हा (Anubhav Sinha) समेत कई स्टार्स ने भी इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है. इस मामले पर स्वरा ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा कि, ”बाबरी मस्जिद खुद ही गिर गया थी.”

तो वहीं इसके बाद इस केस पर एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने भी बयान दिया है. उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि, ”इस जगह से ऊपर भी एक अदालत है, यहां देर है अंधेर नहीं.”

इतना ही नहीं फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा ने भी बाबरी मस्जिद पर आए फैसले के बाद एलके आडवाणी को तंज भरे लहजे में बधाई देते हुए लिखा कि, ”श्री लाल कृष्ण आडवाणी को बधाई, अब आप इस देश की आत्मा पर अकेले एक लंबी खूनी रेखा खींचने के आरोपों से बरी हो गए हैं. भगवान आपको बहुत लंबी उम्र दे.”

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने का आरोप लालकृष्ण आडवाणी से लेकर मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार, साघ्वी ऋतंभरा, महंत नृत्य गोपाल दास, डॉ. राम विलास वेदांती, चंपत राय, महंत धर्मदास, सतीश प्रधान, पवन कुमार पांडेय, लल्लू सिंह, प्रकाश शर्मा, विजय बहादुर सिंह, संतोष दूबे, गांधी यादव, रामजी गुप्ता, ब्रज भूषण शरण सिंह, कमलेश त्रिपाठी, रामचंद्र खत्री, जय भगवान गोयल, ओम प्रकाश पांडेय, अमर नाथ गोयल, जयभान सिंह पवैया, साक्षी महाराज, विनय कुमार राय, नवीन भाई शुक्ला, आरएन श्रीवास्तव, आचार्य धमेंद्र देव, सुधीर कुमार कक्कड़ और धर्मेंद्र सिंह गुर्जर पर लगा था. जिन्हें अब अदालत ने आरोपों से मुक्त कर दिया है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment