पिता काटते थे लकड़ी, बेटा 140 की रफ्तार से फेंकता था गेंद, कहां है वो आईपीएल स्टार? - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

15 October 2020

पिता काटते थे लकड़ी, बेटा 140 की रफ्तार से फेंकता था गेंद, कहां है वो आईपीएल स्टार?

 

पिता काटते थे लकड़ी, बेटा 140 की रफ्तार से फेंकता था गेंद, कहां है वो आईपीएल स्टार?

साल 2009 ऑस्ट्रेलिया के महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न उन दिनों राजस्थान रॉयल्स के कप्तान और कोच थे, एक दिन अचानक ही वो 19 साल के एक अंजान लड़के को दुनिया के सामने लेकर आये, इस युवा गेंदबाज का नाम था कामरान खान, शेन वॉर्न ने उन दिनों दावा किया था कि कामरान 140 की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं, फिर क्या था हर किसी की निगाहें इस युवा तेज गेंदबाज पर टिक गई थी।

कामरान का कमाल
2009 आईपीएल सीजन में तो कामरान ने खास गेंदबाजी नहीं की, लेकिन 2010 में उन्होने अपनी रफ्तार से कई बड़े बल्लेबाजों को हैरान किया, कामरान के केकेआर के खिलाफ के मैच में ब्रेडन मैक्कलम और क्रिस गेल जैसे धाकड़ बल्लेबाज को आउट किया, इस मैच में उन्होने सिर्फ 13 रन देकर 2 विकेट लिये थे, साल 2011 के आईपीएल में 2 मैच खेलने के बाद कामरान गायब हो गये।

ऐसे हुई थी कामरान की तलाश
बायें हाथ के तेज गेंदबाज कामरान खान को राजस्थान रॉयल्स की टीम ने पहली बार 2009 में शामिल किया था, आखिर कैसे उन्हें टीम में जगह मिली, ये कहानी भी बेहद दिलचस्प है, उन दिनों राजस्थान रॉयल्स के कोचिंग डायरेक्टर डैरेन बेरी नई प्रतिभा की खोज में मुंबई पहुंचे, वहां उन्होने कामरान को एक टी-20 टूर्नामेंट में गेंदबाजी करते हुए देखा, वो कामरान से इतने प्रभावित हुए कि उन्हें राजस्थान टीम में शामिल कर लिया, उन दिनों कामरान के पिता जंगल में लकड़ी काटने का काम करते थे, कामरान को फर्स्ट क्लास क्रिकेट का कोई अनुभव नहीं था, मूल रुप से वो एक टेनिस गेंद के क्रिकेटर थे।

वॉर्न हुए कामरान के दीवाने
साल 2009 में आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में हुआ, राजस्थान के वॉर्म अप मैच के दौरान केप कोबरा के बल्लेबाज जस्टिन ऑनटांग को यॉर्कर गेंद डालकर कामरान ने ऑफ स्टंप उड़ा दी, उन दिनों राजस्थान के कप्तान शेन वॉर्न कामरान के दीवाने हो गये, उन्होने मीडिया में दावा किया, कि इस बार कामरान अपनी रफ्तार और धारदार गेंदबाजी से तहलका मचा देंगे, साथ ही उन्होने ये भी कहा कि कामरान आने वाले दिनों में टीम इंडिया के बड़े स्टार साबित हो सकते हैं, साल 2009 के आईपीएल के 9 मैचों में उन्हें 8 विकेट मिले थे।

बॉलिंग एक्शन पर सवाल
कामरान ने यूपी के लिये दो फर्स्ट क्लास मैच तथा 11 टी-20 खेले, लेकिन वहां से भी उन्हें आगे मौका नहीं मिला, कामरान अब अपने परिवार का गुजारा करने के लिये खेती करते हैं, साथ ही लोकल टूर्नामेंट्स में खेलते हैं, सिर्फ 23 साल की उम्र में कामरान क्रिकेट से गायब हो गये, उनके गेंदबाजी एक्शन को लेकर भी सवाल खड़े किये गये थे।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment