गैंगरेप पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, शरीर पर मिले चोट के 10 निशान - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

03 October 2020

गैंगरेप पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, शरीर पर मिले चोट के 10 निशान

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में गैंगरेप का शिकार दलित छात्रा की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई है, जिसमे पीड़िता के शरीर में चोट के दस निशान पाए गए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ़ पता चलता है कि दरिंदों ने बच्ची के साथ दरिंदगी की सभी हदे पार कर दी थी। यह मामला हाथरस की घटना के बाद सामने आया था। छात्रा की छाती, जांघों, कोहनी, गाल और घुटने पर चोट के निशान मिले हैं। पीड़िता के परिजन प्रशासन से बेहद नाराज हैं, उन्होंने स्थानीय पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि पुलिस ने इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया है जब्कि इसमें घटना में दो से अधिक लोगों ने मिलकर अंजाम दिया है। उन्हें भी पुलिस जल्द गिरफ्तार करें। पुलिस जल्द उन लोगों पर कार्रवाई नहीं करती तो वो खुद ही न्याय करने को मजबूर हो जाएंगे।

पीड़ित पक्ष का कहना है कि वो उस घर को आग के हवाले कर देंगे जहां उनकी बच्ची मिली थी। पुलिस परिजनों को समझने की कोशिश कर रही है, इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है लेकिन परिजन पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। यह मामला पिछले बुधवार को बलरामपुर के गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र से सामने आया। जहां, छात्रा सुबह 10 बजे अपने घर से एक निजी यूनिवर्सिटी में एडमिशन करवाने के लिए निकली थी। इसके बाद जब छात्रा देर शाम तक जब घर नहीं पहुंची तो परिवार वालों ने बेटी की तलाश शुरू की। इस दौरान ही बेटी गंभीर और बदहवास हालत में घर पहुंची, जहां उसने अपने साथ हुई शर्मनाक वारदात की जानकारी दी।

उसने बताया कि उसे एक युवक पहले कॉलेज ले गया और फिर अपने घर ले गया। वहां उस युवक (साहिल) और उसके चाचा (शाहिद) ने एक-एक उसके साथ रेप किया। जिसके बाद छात्रा की हालत बेहद ख़राब हो गई। इसके बाद आरोपी काफी डर गए और उन्होंने एक डॉक्टर को घर पर ही बुलाकर छात्रा का इलाज करने की बात की। डॉक्टर घर आया भी और उसे छात्रा को देखकर लगा कि मामला संदिग्ध है, जिसके बाद उसने इलाज करने से साफ़ इंकार दिया और छात्रा को जिला अस्पताल ले जाने को कहा। इसके बाद घबराए दरिंदों ने पीड़िता को रिक्शे पर बैठा घर भेज दिया था।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment