कंगना की जान को खतरा! गृह मंत्रालय ने दी Y श्रेणी की सुरक्षा, इस राज्य के सीएम ने दिया जोर - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

07 September 2020

कंगना की जान को खतरा! गृह मंत्रालय ने दी Y श्रेणी की सुरक्षा, इस राज्य के सीएम ने दिया जोर

 

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही अभिनेत्री कंगना रनौत ने बॉलीवुड के काले कारनामों पर से पर्दा उठाने की ठान ली है। हालांकि इस दौरान कंगना रनौत को काफी मुश्किलों का सामना भी करना पड़ा। सुशांत केस की मुखरता से आवाज उठा रहीं कंगना रनौत को मूवी माफियाओं के साथ-साथ राजनेताओं से भी पंगा लेना पड़ गया। हाल ही में शिवसेना नेता संजय राउत और अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच तीखी नोकझोंक देखने को मिली। इतना ही नहीं नेता संजय राउत ने कंगना रनौत को महाराष्ट्र में न घुसने तक की धमकी दे डाली थी। संजय ने कहा कि कंगना रनौत को महाराष्ट्र में रहने का अधिकार नहीं है। इस पर एक्ट्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि, ”महाराष्ट्र किसी के बाप की जागीर नहीं है”। सुशांत केस को लेकर दोनों के बीच जुबानी जंग अपने चरम पर पहुंच गई है। कई लोगों ने तो कंगना को सोशल मीडिया पर अंजाम भुगतने तक की धमकी दे डाली है।

स बीच कंगना की सुरक्षा को लेकर हिमाचल सरकार ने फैसला किया है कि कंगना को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि कंगना राज्य की बेटी हैं। वहीं अभिनेत्री को गृह मंत्रालय की तरफ से वाई श्रेणी (y category) की सुरक्षा भी दी गई है।

 

वाई श्रेणी की सुरक्षा

सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार की अनुशंसा पर केन्द्र सरकार ने थ्रेट परसेप्शन के आधार पर ये फैसला लिया है. वाई श्रेणी सुरक्षा व्यवस्था के तहत कुल 11 सुरक्षाकर्मी शामिल होते हैं. जिसमें दो कमांडो तैनात होता है. ये सुरक्षाकर्मी चौबीस घंटे साथ रहते हैं. सूत्रों के मुताबिक सुरक्षा का ये जिम्मा सीआरपीएफ संभाल सकती है।

मालूम हो कि कंगना रनौत को सुरक्षा शिवसेना नेता संजय राउत से हुई तीखी नोकझोंक के बाद दी गई है। बीते दिनों हिमाचल सरकार ने भी केंद्र से वाई श्रेणी की सुरक्षा की मांग की थी, जिसे आज से अमल में लाया गया है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment