SSR केस: ट्रीटमेंट के वक्त रोने लगते थे सुशांत, सुसाइड को लेकर डॉक्टर से कही थी ये बात - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

03 September 2020

SSR केस: ट्रीटमेंट के वक्त रोने लगते थे सुशांत, सुसाइड को लेकर डॉक्टर से कही थी ये बात

sushant singh rajput

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh rajput) का केस काफी ज्यादा पेचीदा हो गया है. लेकिन सीबीआई (CBI) इसके अंतिम निर्णय तक पहुंचने के लिए लगातार गवाहों, सबूतों की छानबीन में लगी है. अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि एक्टर ने खुद मौत को गले लगाया है, या फिर उन्हें मारा गया है. ऐसी बहुत सी कड़ियां हैं जो खुलनी बाकी हैं. लेकिन इसी बीच सुशांत का इलाज करने वाली डॉक्टर सुजैन वॉकर का मुंबई पुलिस (Mumbai Police) को दिया गया बयान सामने आया है. जिसमें एक्टर की डेथ से पहले उनकी मानसिक हालत और मौत के कारण के बारे में डॉक्टर की ओर से एक अनुमान का जिक्र किया गया है. दरअसल डॉक्टर सुजैन वॉकर (Suzanne Walker) सुशांत का इलाज कर रही थीं. ऐसे में उनकी ओर से मुंबई पुलिस को जो बयान दिया गया था इसके बारे में आज तक की ओर से एक रिपोर्ट के जरिए ये दावा किया गया है कि ये वही बयान है जो 59 साल की डॉक्टर सुजैन ने 16 जुलाई को मुंबई पुलिस को दिया था.

सुंशात को आ रहे थे सुसाइड जैसे ख्याल
अक्टूबर-नवंबर की बात है जब सुशांत सिंह राजपूत काफी ज्यादा बीमार रहने लगे थे. रिया का कहना था कि सुशांत को सुसाइड जैसे ख्याल आने लगे थे. 1 से लेकर 10 के बीच की बात की जाए तो सुशांत की ततीयत 9 से 10 के आसपास पहुंच गई थी. इसके साथ ही सुशांत ने डॉक्टर वॉकर को ये भी जानकारी दी थी कि वो बचपन से ही बहुत ज्यादा शर्मीले किस्म के इंसान थे इसलिए उन्हें बहुत ज्यादा दिक्कत झेलनी पड़ी थी.

सुशांत को बायपोलर डिसऑर्डर नाम की थी बीमारी
दरअसल सुशांत ने वॉकर को खुद ये बात बताई थी कि उनकी मां की डेथ पैनिक अटैक की वजह से हुई थी. उस समय वो अपनी मां के सबसे ज्यादा करीब थे. लेकिन जब मां की मौत हुई तो अपने पिता के बजाय वो (सुशांत) अपनी बहनों के नजदीक आ गए. हालांकि ये बात स्पष्ट है कि सुशांत बायपोलर डिसऑर्डर की दिक्कत से परेशान था. इतना ही नहीं वॉकर ने बयान में इस बात का भी खुलासा किया है कि एक्टर इस बीमारी के बारे में जान गया था लेकिन इसे मानना उसके लिए काफी ज्यादा मुश्किल हो रहा था. हैरानी वाली बात तो ये है कि वो इस बीमारी से जुड़ी न दवाई ले रहा था और न ही ट्रीटमेंट करा रहा था. डॉक्टर ने ये भी कहा कि इलाज के समय कई बार वो रो पड़ता था, और बहुत ही नकारात्मक चीजें सोचने लगा था. इसके आगे बयान में डॉक्टर वॉकर ने ये भी बताया है कि सुशांत का बायपोलर डिसऑर्डर पहले से भी ज्यादा गंभीर हो गया था. लगातार ये बढ़ रहा था. ऐसे में सुशांत को ये महसूस होने लगा था कि वो कभी ठीक नहीं हो सकता. शायद इन्हीं कारणों को ध्यान में रखते हुए उसने अपना अंतिम निर्णय लिया होगा.

डॉक्टर सुजैन से कैसे हुई सुशांत की मुलाकात
डॉक्टर सुजैन वॉकर की माने तो उन्हें 30 अक्टूबर 2019 को श्रुति नाम की एक महिला की ओर से एक व्हाट्सएप मैसेज आया था. ये उस दौरान की बात है जब श्रुति सुशांत के साथ काम कर रही थीं. मैसेज में श्रुति ने डॉक्टर वॉकर से इस बात का जिक्र किया था कि बीते 10 दिनों से एक्टर को काफी घबराहट जैसा फील हो रहा है. शायद उन्हें मेडिकल ट्रीटमेंट की आवश्यकता है. श्रुति की बात सुनने के बाद डॉक्टर सुजैन वॉकर ने सुशांत को 4 नवंबर 2019 को पहला अपॉइंटमेंट देते हुए उनके क्लिनिक पर मिलने को कहा. लेकिन श्रुति ने अपॉइंटमेंट वाले दिन ही मीटिंग कैंसिल कर दी थी.

श्रुति के बाद रिया ने सुशांत को लेकर डॉक्टर से की थी बात
श्रति के बाद डॉक्टर से 7 नवंबर 2019 को रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने व्हाट्सएप पर मैसेज के जरिए बात की थी. साथ ही उन्होंने दोस्त सुशांत की हेल्थ को लेकर मदद भी मांगी. डॉक्टर की माने तो रिया ने उनसे कहा था कि सुशांत काफी ज्यादा दिक्कत में हैं. हालांकि उनकी सेक्रेटरी ने इसके लिए अपॉइंटमेंट लिया था, लेकिन अचानक से उसी दिन सुशांत की मानसिक हालत और भी ज्यादा बिगड़ गई थी इसलिए वो वहां नहीं जा सका. रिया के कहने पर डॉक्टर ने दूसरा अपॉइंटमेंट 15 नवंबर 2019 के लिए दे दिया था. लेकिन रिया ने इससे पहले अपॉइंटमेंट लेने के लिए कहा, तो डॉक्टर ने रिया से ये सवाल किया क्या एक्टर को सुसाइड जैसे विचार आ रहे हैं तो रिया ने जवाब देते हुए कहा था क, हां. साथ ही ये भी बताया था कि सुशांत अभी डॉक्टर निकिता शाह से इलाज करवा रहा हैं.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment