चीन पर मोदी सरकार का बड़ा एक्शन, PUBG समेत 118 चीनी मोबाइल ऐप्स पर लगाया बैन, देखें पूरी लिस्ट - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

02 September 2020

चीन पर मोदी सरकार का बड़ा एक्शन, PUBG समेत 118 चीनी मोबाइल ऐप्स पर लगाया बैन, देखें पूरी लिस्ट

pubg

भारत और चीन का तनाव इन दिनों चरम पर है। एक तरफ चीन भारतीय सीमा पर लगातार घुसपेठ करने की कोशिश कर रहा है। तो दूसरी तरफ भारत चीन को जवाब देने के लिए डिजीटल स्ट्राइक कर रहा है। भारत ने चीन की कई ऐप को बैन किया है लेकिन अब इसी कड़ी में भारत ने चीन की और 118 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। जिमसें चीन की पॉपुलर ऐप पबजी भी शामिल है। जो लोगों के बीच काफी पॉपुलर गैम है दरअसल केंद्र सरकार के पास लगातार चीनी ऐप्स के खिलाफ शिकायत आ रही थी। इस दौरान ऐप्स पर देश की सुरक्षा, संप्रभुता, एकता के लिए नुकसानदेह बताया जा रहा था। इसी वजह से बुधवार को केंद्र सरकार ने 118 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है।

चीन की ऐप्स पर बैन की जानकारी देते हुए आईटी मंत्रालय की तरफ से कहा गया, ‘सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 ए के तहत इस फैसले को लागू किया है। ये सभी 118 मोबाइल ऐप्स विभिन्न प्रकार के खतरे उत्पन्न कर रही थीं, जिसके चलते इन्हें ब्लॉक किया गया है।’ इसके आगे मंत्रालय ने कहा कि उपलब्ध जानकारी के मद्देनजर ये ऐप्स ऐसी गतिविधियों में लगे हुए हैं, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, सुरक्षा के लिए नुकसानदायक है। मंत्रालय ने बताया कि ऐसी कई शिकायतें मिली थीं जिसमें कहा गया था कि एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर ऐसे कई मोबाइल ऐप हैं जो यूजर्स की सूचनाएं चुराते हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले केंद्र की मोदी सरकार ने देश में चीन की 59 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाया था। सरकार ने ये फैसला जून के अंत में लिया था। इस दौरान चीन की मशहूर ऐप टिकटॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर, हेलो, विगो, जैसे ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया था। जिसके कुछ समय बाद ही सरकार ने चीन की 47 और मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया था। ऐसा करके सरकार अब तक चीन की कुल 106 ऐप्स को बैन कर चुकी थी लेकिन अब सरकार का ये फैसला चीन के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं होगा।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment