इमरान खान ने दिल्ली को रेप कैपिटल कहा, बॉलीवुड पर भी जमकर बरसे पाक PM - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

16 September 2020

इमरान खान ने दिल्ली को रेप कैपिटल कहा, बॉलीवुड पर भी जमकर बरसे पाक PM

 

Imran Khan

पाकिस्तान (Pakistan) में एक महिला के साथ गैंगरेप होने के बाद पूरे देश में प्रदर्शन हो रहा है। सोशल मीडिया पर पाकिस्तान सरकार को जमकर घेरा जा रहा है। इस बीच, इमरान खान ने भारत की राजधानी दिल्ली (Delhi) को रेप कैपिटल बताया है। साथ ही, बॉलीवुड को रेप कांड का जिम्मेदार ठहराया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक निजी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में ऐसा बयान दिया है। इमरान खान का मानना है कि बॉलीवुड की फिल्मों की वजह से अपराध बढ़ रहे हैं। इसकी वजह से संस्कृति को हानि पहुंच रही हैं।

फिल्में दे रही अपराध को बढ़ावा
इमरान खान ने कहा,  दुनिया का इतिहास बताता है कि जब समाज में अश्लीलता बढ़ती है तो दो चीजें होती हैं- एक तो सेक्स अपराध बढ़ते हैं और पारिवारिक व्यवस्था टूटने लगती है। ऐसे अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी केवल कानून लागू कराने वाली एजेंसियों की ही नहीं बल्कि समाज की भी है। हमारा फैमिली सिस्टम मजबूत है और हम अपनी न्यायिक व्यवस्था को सुधार सकते हैं लेकिन अगर हमारा फैमिली सिस्टम ही ढह गया तो हम इसे फिर नहीं खड़ा कर पाएंगे।

दिल्ली बना रेप कैपिटल
इमरान खान ने भारत की राजधानी दिल्ली को रेप कैपिटल कह दिया। इमरान ने कहा, बॉलीवुड फिल्मों मे परोसी जा रही अश्लीलता की वजह से नई दिल्ली में सेक्सुअल क्राइम बढ़ गए हैं। बॉलीवुड में 40 साल पहले जैसी फिल्में बनती थीं वैसी अब नहीं बनती हैं और इसका बुरा असर भारतीय समाज पर पड़ा है। दिल्ली दुनिया की रेप कैपिटल बन गई है। पाकिस्तान में बॉलीवुड का प्रभाव कम करने के लिए ही उन्होंने टर्किश ब्लॉकबस्टर सीरीज एर्तरुल का प्रसारण करवाया।

एर्तरुल सीरीज के प्रसारण की वजह
इमरान खान ने कहा, हिन्दुस्तान में हमने तबाही देखी है। हम वो तबाही अपने देश में नहीं चाहते हैं। जब मैंने एर्तरुल सीरीज का पाकिस्तान के सरकारी टीवी चैनलों पर प्रसारण करवाया तो लोगों ने कहा कि पाकिस्तान में लोग बॉलीवुड ही देखते हैं। हालांकि इमरान का मानना था कि हम पाकिस्तानियों को ऐसी चीजें दिखाएं जिनमें इस्लामिक मूल्य भी हों, इस्लामिक इतिहास भी हो और परिवार के सारे लोग एक साथ बैठकर उसे देख सकें। हम चाहते हैं कि लोग अपनी संस्कृति के करीब जाएं और उसके नैतिक मूल्यों को सीखें। जब भी समाज में अश्लीलता बढ़ती है तो अपराध बढ़ते हैं और हमें इस बात को समझने की जरूरत है।

सरेआम रेपिस्ट को फांसी लगाना स्वीकार्य नहीं
रेप को रोकने के लिए इमरान खान ने योजना बताई कि रेप को मर्डर की तरह ही फर्स्ट डिग्री और सेकेंड डिग्री की कैटिगरी में बांटना चाहिए। रेपिस्ट का केमिकल केस्ट्रैशन होना चाहिए। कई देशों में ऐसा होता भी है। गंभीर यौन अपराधियों को चौक पर लटका देना चाहिए। वे बच्चों और उनके माता-पिता की जिंदगियां खराब करते हैं। ऐसे कितने मामले होते हैं जिनको कभी रिपोर्ट ही नहीं किया जाता है। हालांकि, पाकिस्तान में रेपिस्ट को सरेआम फांसी पर लटकाना सही नहीं होगा।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment