PM मोदी की गुड बुक में थे IAS मंगेश घिल्डियाल, अब PMO में मिली बड़ी जिम्मेदारी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

15 September 2020

PM मोदी की गुड बुक में थे IAS मंगेश घिल्डियाल, अब PMO में मिली बड़ी जिम्मेदारी

PMO

टिहरी के जिलाधिकारी और बैच 2012 के सबसे तेज तर्रार IAS ऑफिसर मंगेश घिल्डियाल (Mangesh Ghildiyal) को पीएमओ (PMO) में अंडर सेक्रेटरी पद पर नियुक्त किया गया है. उनका कार्यकाल चार साल का होगा. उन्हें तीन सप्‍ताह के भीतर पीएमओ में तैनाती देने को कहा गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद भरोसेमंद आईएएस अफसरों में स्थान मिलने के मौके पर आइए जानते हैं मंगेश घिल्डियाल के जीवन के बारे में..

जब कलेक्टर की पत्नी ने लिया बच्चों का पढ़ाने का निर्णय
साल 2012 बैच के आइएएस ऑफिसर मंगेश तीन साल पहले उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग में अपनी सेवाएं दे चुके है.उस वक्त हुआ ये कि बतौर जिला कलेक्टर रहते हुए मंगेश राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में निरीक्षण करने गए थे. तब प्रिंसिपल ने कलेक्टर को बताया कि स्कूल में विज्ञान के शिक्षकों की कमी है. ऐसे में बच्चियों की पढ़ाई खतरे में है.तब कलेक्टर ने तय किया की बच्चों की पढ़ाई चौपट नहीं होने देंगे.मंगेश घिल्डियाल ने पत्नी ऊषा सुयाल से स्कूल में शिक्षकों की कमी का जिक्र किया. इस पर ऊषा सुयाल ने तय किया कि वे स्कूल में पढ़ाएंगी.

कलेक्टर की पत्नी ऊषा के पास है डॉक्टरेट की उपाधि
जिला कलेक्टर की पत्नी भी काफी पढ़ी लिखी है.ऊषा ने पंतनगर के गोविंद बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी से प्लांट पैथोलॉजी से डॉक्टरेट कर रखा है. उस समय ऊषा राजकीय बालिका इंटर कॉलेज रुद्रप्रयाग में कक्षा नौवीं और दसवीं की छात्राओं को दो घंटे पढ़ाया करती थीं.

साइंटिस्ट से आइएएस तक की यात्रा
मंगेश घिल्डियाल का जन्म गढ़वाल जिले के पौड़ी के टांडिया गांव में हुआ था. अपनी प्ररारभ्भिक शिक्षा गांव में की इसके बाद देहरादून में पढ़े.इसके बाद कुमाऊं विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन व इंदौर के देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से एमटेक किया. मंगेश घडियाल को साइंटिस्ट के रूप में पहली नौकरी मिली थी. मगर वे भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना चाहते थे. इसके बाद उन्होंने साल 2010 में बिना किसी कोचिंग के सिविल सेवा परीक्षा दी और 131वीं रैंक प्राप्त कर पहले प्रयास में आईपीएस बने. इसके बाद 2012 में दोबारा यूपीएससी परीक्षा देकर चौथा स्थान प्राप्त किया और आइएएस बने.

आपको बता दें कि पीएमओ में अलग-अलग राज्‍यों के तीन आइएएस अधिकारियों की तैनाती की गई है. वर्ष 2004 बैच के रघुराज राजेंद्र को डायरेक्‍टर और 2010 बैच की आइएएस आम्रपाली काता को उप सचिव के पद पर तैनात किया गया है.वहीं मंगेश घिल्डियाल को पीएमओ में अंडर सेक्रेटरी पद पर नियुक्त किया गया है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment