लव जिहाद का मामला: कानपुर पुलिस खंगाल रही आरोपियों की बैंक डिटेल, जानें क्या है वजह - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

05 September 2020

लव जिहाद का मामला: कानपुर पुलिस खंगाल रही आरोपियों की बैंक डिटेल, जानें क्या है वजह

 

कानुपर पुलिस जनपद में लगातार बढ़ रहे लव जिहाद के मामलें में अब उस कड़ी की जांच में जुटी हुई है, जहां इस तरह की मामले को अंजाम देने को लिए प्रेरित किया जाता है और फंडिग की जाती है। दरसअल कानपुर में इस बीच लव जिहाद के केस में बढ़ सी आ गई है। अब तक जनपद में कुल 9 मामले सामने आए हैं। इन सभी मामलों की जांच की जांच एसआईटी द्वारा की जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कानपुर पुलिस लव जिहाद ममाले के आरोपियों और उनके परिजनों के बैंक डिटेल खंगालने में जुटी है। दरअसल इन सभी आरोपियों की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब है, इसके बावजूद भी आरोपी कानूनी जंग के लिए पैसे पानी की तरह फेंक कर रहे हैं। ऐसे में बड़ा सवाल उठता है कि इन आरोपियों की सहायता कौन रहा है, इनकी फंडिंग कहां से हो रही हैं।

पिता करता है मामूली सी नौकरी- बर्रा की रहने वाली शालिनी यादव जो धर्म परिवर्तन के बाद फिजा फातिमा बन चुकी  युवती ने फैसल नाम के लड़के से निकाह किया था। ममाले में शालिनी के परिजनों ने फैसल सहित सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। फैसल ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से लेकर दिल्ली हाईकोर्ट तक मंहगे वकील खड़े कर दिए। कानूनी लड़ाई में फैसल पानी की तरह पैसा बहा रहा है, जबकि फैसल के पिता एक मामूली फर्नीचर शॉप में काम करते है।

पहचान छिपाकर की दोस्ती- पनकी में लव जिहाद का शिकार हुई दो सगी बहनों का ब्रेनवॉश कर धर्म परिवर्तन कराने वाले दोनों आरोपी मोहसिन खान और आमिर जेल में है। दोनों आरोपियों ने धार्मिक पहचान छिपाकर की थी दोस्ती। मोहसिन और आमिर की भी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। इसके बाद भी कानूनी लड़ाई में पुलिस के खिलाफ सबसे महंगे वकीलों को खड़ा किया है।

अंडर ग्राउंड होने पर भी आर्थिक मदद- कल्याणपुर में भी दो सगी बहनें लव जिहाद का शिकार हुई है। दोनों बहनों का ब्रेनवॉश कर धर्म परिवर्तन कराने वाले दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है, इनके खिलाफ कल्याणपुर थाने में मुकदमा दर्ज है। दोनों ही आरोपी अंडर ग्राउंड है। सूत्रों के मुताबिक दोनों आरोपी भी महंगे वकीलों के संपर्क में हैं। यह पांचों आरोपी एक ही कॉलोनी के रहने वाले है।

पुलिस से ज्यादा सक्रिय हिंदूवादी संगठन- गोविंद नगर में रहने वाली लड़की को जाजमऊ के नफीस ने ब्रेनवॉश कर 15 दिनों तक घर पर बंधक बनाकर रखा था। धर्म परिवर्तन कर उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। एक हिंदूवादी संगठन ने लड़की को नफीस के चुंगल से छुड़वाया था। वहीं जाजमऊ में रहने वाला आदिल खान एक 16 वर्षीय लड़की का ब्रेनवॉश करके ले गया। उसका धर्म परिवर्तन कराया, और 6 माह से बंधक बनाकर रख रहा था। हिंदूवादी संगठन के दबाव के बाद पुलिस ने पीड़ित परिवार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेजा था। जबकि दो लव जिहाद के मामले पुराने है।

कॉल डीटेल से पता लगाने में जुटी- एसआईटी ने आरोपियों और उनके परिजनों की कॉल डीटेल और बैंक डीटेल निकलवा रही है। जिससे यह पता लगाया जा सके कि इनकी बात कहां और किससे हो रही है। इसके पीछे कोई साजिश तो नहीं है। इनकी मदद करने वालों के नबंरों को भी सर्विलांस पर लगाया जाएगा। फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए जांच को आगे बढ़ा रही है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment