चल रही थी नींव खुदाई, अचानक से निकला मिट्टी का कीमती घड़ा, लोगों के उड़ गए होश - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

05 September 2020

चल रही थी नींव खुदाई, अचानक से निकला मिट्टी का कीमती घड़ा, लोगों के उड़ गए होश

unnao Silver and copper coins in excavation

हमारे देश में कई प्राचीन धरहरों है. जिन्हें लेकर कई रहस्य आज भी बने हुए हैं. कई बार तो भवन निर्माण के लिए खुदाई करते हुए ऐसी-ऐसी चीजें निकलकर सामने आती हैं. जिन्हें देखकर लोगों के होश उड़ जाते हैं. हाल ही में उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में सफीपुर तहसील क्षेत्र के कन्हऊखेड़ा गांव में सचिवालय निर्माण के लिए की गई खुदाई में सालों पुराना खजाना निकला है. जी हां, खुदाई में करीब 100 साल पुराने चांदी और तांबे के सिक्कों से भरा मिट्टी का बर्तन निकला है. जिसके बाद निर्माण कार्य रोक दिया गया है.

100 साल पुराना खजाना!
बताया जा रहा है कि, जब नींव खुदाई चल रही थी तभी मजदूरों को किसी चीज से टकराने की आवाज आई. इस पर उन्होंने हाथ से मिट्टी हटाई और अंदर से मिट्टी का घड़ा निकाला. जिसमें चांदी और तांबे के सिक्के भरे थे. जानकारी मिलते ही तहसील प्रशासन ने सिक्कों को कब्जे में लेकर पुरात्व विभाग को भेज दिया है.


Unnao Treasure

एसडीएम का इस मामले पर कहना है कि, गांव में राम मंदिर के पास इस स्थान पर कोई अन्य धरोहर के होने की संभावना भी हो सकती है. फिलहाल निर्माण कार्य रोक दिया गया है. इसके साथ ही ग्राम प्रधान के पति सुभाष को खुदाई अपनी सख्त निगरानी में कराने के आदेश दिए हैं.

प्रधान का इस पूरे मामले पर कहना है कि, पड़ोस में जो राम मंदिर है वो करीब 100 साल पुराना है और गांव की आबादी के बाहर है. अब आगे की खुदाई की निगरानी की जाएगी.
Unnao Treasure 158 years old
खुदाई की घटना 1 सितंबर की है. जिसमें 17 चांदी के सिक्के और 87 तांबे के सिक्के मिले हैं. एसडीएम ने आगे की कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.

1962 के सिक्के
मिली जानकारी के मुताबिक, खुदाई में जो सिक्के निकले हैं वह 1962 से लेकर 1919 तक के हैं. इसके अलावा 
1960,1880,1918,1917,1890,1923,1904,1917,1870,1901,1907, 1906,1887,1904, और 1862 के सिक्के मिले हैं. मामले की जांच की जा रही है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment