कॉलेज के दिनों में ऐसे दिखते थे सीएम योगी, इस वजह से छोड़ा था घर - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

30 September 2020

कॉलेज के दिनों में ऐसे दिखते थे सीएम योगी, इस वजह से छोड़ा था घर

कॉलेज के दिनों में ऐसे दिखते थे सीएम योगी, इस वजह से छोड़ा था घर

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ स्कूल के दिनों से ही विद्यार्थी परिषद के कर्मचारी के रुप में काम करते थे, शायद यही वजह थी कि उन्हें शुरुआत से ही हिंदुत्व के प्रति लगाव था, वो अकर वाद-विवाद प्रतियोगिता में भाग लेते थे, विद्यार्थी परिषध का कोई भी कार्यक्रम होता था, तो तत्कालीन गोरक्ष पीठाधीश्वर महंत अवैद्यनाथ को उसमें मुख्य अतिथि के रुप में बुलाया जाता था।

अवैद्यनाथ हुए प्रभावित
एक बार ऐसे ही कार्यक्रम में देश भर से आये कई छात्रों ने अपनी बात रखी, जब सीएम योगी ने अपनी बात रखनी शुरु की, तो लोगों ने उनकी खूब सराहना की, भाषण सुनकर महंत अवैद्यनाथ भी काफी प्रभावित हुए, उन्होने सीएम योगी को अपने पास बुलाया तथा पूछा, कहां से आये हो, तो उन्होने बताया कि वो उत्तराखंड के पौड़ी के पंचूर के रहने वाले हैं, उन्होने कहा कि कभी मौका मिले, तो गोरखपुर आओ।

योगी के पड़ोसी
आपको बता दें कि महंत अवैद्यनाथ भी उसी उत्तराखंड के रहने वाले थे, उनका गांव भी योगी के गांव से 10 किमी दूर था, उस पहली मुलाकात में अवैद्यनाथ योगी से काफी प्रभावित हुए, उस मुलाकात के बाद योगी अवैद्यनाथ से मिलने गोरखपुर आये, कुछ दिन रुकने के बाद वापस गांव लौट गये। फिर ऋषिकेश में ललित मोहन शर्मा कॉलेज में एमएससी में दाखिला लिया, पर उनका मन गोरखपुर की तप स्थली की ओर घूमता रहता था, इस बीच महंत अवैद्यनाथ बीमार पड़ गये, योगी उनसे मिलने पहुंचे, तो अवैद्यनाथ महाराज ने उनसे कहा कि हम राम जन्मभूमि पर मंदिर के लिये लड़ाई लड़ रहे हैं, मैं इस हाल में हूं यदि मुझे कुछ हो गया, तो मेरे मंदिर को देखने वाला कोई नहीं होगा।

अवैद्यनाथ के उत्तराधिकारी
योगी आदित्यनाथ ने महंत अवैद्यनाथ से कहा कि आप चिंता ना करे, आप को कुछ नहीं होगा, मैं गोरखपुर जल्द आऊंगा, कुछ दिनों बाद वो अपने घर में नौकरी की बात कहकर गोरखपुर के लिये निकले, साल 1992 में वो गोरखपुर आये और यही के होकर रह गये।
(नोट- ये कहानी योगी आदित्यनाथ की जीवन यात्रा पर लिखी किताब योद्धा योगी से ली गई है, इसे प्रवीण कुमार ने लिखा है)

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment