सुशांत की मौत का हुआ था लाइव टेलीकास्ट! डार्क वेब में छुपा सारा राज: विभोर आनंद - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

13 September 2020

सुशांत की मौत का हुआ था लाइव टेलीकास्ट! डार्क वेब में छुपा सारा राज: विभोर आनंद


फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आकस्मिक मौत की जांच सीबीआई की स्पेशल टीम कर रही है, वहीं इस केस में ड्रग एंगल के सामने आने के बाद ड्रग नारकोटिक्स ब्यूरो की टीम भी इस दिशा में ताबड़तोड़ कार्यवाई कर रही है। इस बीच सुशांत केस को लेकर ऐसा खुलासा हुआ है, जिसकी किसी ने कल्पना तक नहीं की थी। जी हां, हैरतअंगेज खुलासा सुशांत की मौत को लेकर हुआ है। दरअसल सुशांत की मौत पर एडवोकेट विभोर आनंद ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि सुशांत, दिशा सालियान और एक नाबालिग लड़की की ह्त्या का लाइव प्रसारण डार्क वेब पर किया गया था। अब यह डार्क वेब क्या है, इसके बारे में लोग जानना चाह रहे हैं। इस दावे के बाद सोशल मीडिया पर डार्क वेब को लेकर सबसे ज्यादा सर्च की जा रही है।

सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़ा विभोर आनंद का ये दूसरा खुलासा है। विभोर आनंद ने ट्वीट करके बताया है कि 13 जून की रात को सुशांत की हत्या का लाइव टेलीकास्ट किया गया था। इस टेलीकास्ट को कई लोगों ने लाइव देखा था। सुशांत के अलावा दिशा सालियान की हत्या का भी लाइव टेलीकास्ट किया गया था। विभोर का दावा है कि सुशांत को इस कदर बेरहमी से इसलिए ही मारा गया था क्योंकि उसकी हत्या कई लोग लाइव देख रहे थे। इस दावे के बाद सोशल मीडिया पर माहौल गरमाया हुआ है।

बता दें कि डार्क वेब कोई कपोल कल्पना नहीं है। इंटरनेट का सबसे छुपा रहने वाला डार्क वेब मुख्यतः अपराधियों द्वारा प्रयोग किया जाता है। विभोर के इस दावे की कल्पना ही रोंगटे खड़े कर देने के लिए पर्याप्त है। डार्क वेब पर एक्सेस करना आसान नहीं होता। यहाँ गैरकानूनी गतिविधियों का अंजाम दिया जाता है इसलिए ये encrypted होता है। इसे एक्सेस करने के लिए विशेष ब्राउजर्स होते हैं। सामान्य ब्राउजर्स से इसे एक्सेस नहीं किया जा सकता।

डार्क वेब पर हथियारों की डीलिंग, ड्रग्स का व्यापार और किसी की लाइव पिटाई दिखाने के लिए भी इस्तेमाल हो सकता है। इस पर रेप का लाइव टेलीकास्ट भी किया जाता है। विभोर ने दावा किया है कि बॉलीवुड के प्रभावशाली लोगों की गहन आईटी जाँच की जाए तो ये टूल बरामद किये जा सकते हैं। इसके यूजर्स encryption tool की मदद से इसे एक्सेस कर पाते हैं।

इस दावे से ये सवाल भी उठ रहा है कि क्या बॉलीवुड और मुंबई के कुछ राजनीतिज्ञों की एक्सेस डार्क वेब तक है। मुंबई में इस समय कार्यरत केंद्रीय जाँच एजेंसियों को इस दावे की पड़ताल करने की आवश्यकता है। ये तो अब तय हो चुका है कि सुशांत की मौत आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या थी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment