कोरोना और फ्लू के बीच में ऐसे करें फर्क, नहीं तो हो सकती है गंभीर समस्या, वैज्ञानिकों ने किया सतर्क - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 September 2020

कोरोना और फ्लू के बीच में ऐसे करें फर्क, नहीं तो हो सकती है गंभीर समस्या, वैज्ञानिकों ने किया सतर्क

 

मौजूदा समय में कोरोना का खौफ अपने शबाब पर पहुंच गया है। लगातार बढ़ते संक्रमण के मामले अपने चरम पर है और अब सर्दियों का मौसम भी अपने मुहाने पर है। थोड़ी-सी.. कोविड-19 को लेकर ऊहापोह की भी स्थिति बनी हुई है कि आखिर ये कोविड-19 है या फिर फ्लू,  क्योंकि दोनों के लक्षण काफी हद तक समान होते हैं। ऐसी स्थिति में किसी के लिए भी यह पता लगा पाना मुश्किल होता है कि आखिर मरीज किस बीमारी से पीड़ित है.. लेकिन इतनी समानता होने के बावजूद भी कुछ ऐसे लक्षण हैं, जो दोनों में विभेद पैदा करते हैं।

अगर दोनों ही बीमारियों के लक्षण की बात करें तो दोनों में ही शरीर में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, गले में दर्द , बुखार, खांसी, जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन इतनी समानता होने के बावजूद भी कुछ ऐसे लक्षण हैं, जो दोनों के बीच में विभेद पैदा करते हैं। मसलन, कोविड-19 हो जाने की स्थिति में मरीज की सूंघने और स्वाद चखने की क्षमता खत्म हो जाती है और दूसरा कोविड 19 होने की स्थिति में मरीज दो से तीन सप्ताह के दरम्यिान बीमार होने की स्थिति में आ जाते हैं , लेकिन फ्लू के केस में ऐसा नहीं होता है। फ्लू होने की स्थिति में मरीज महज एक सप्ताह में ही बीमार पड़ने लगता है, दूसरा मरीज फ्लू होने की स्थिति स्वाद चखने की स्थिति चली जाती है।

डाक्टर्स कहते हैं कि अगर मरीज एक सप्ताह के अंदर रिकवर न होने पाए तो उसे फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इन दोनों ही बीमारियों के बीच इतनी समानता होने के बाजवूद इन दोनों का टेस्ट करवा कर आप दोनों के बीच विभेद कर सकते हैं।  उधर, इस संदर्भ में बॉस्टन के हार्वर्ड मेडिकल हॉस्पिटल और स्कूल के डॉ. डेनियल सोलोमॉन कहते हैं कि ऐसा सभव नहीं है कि एक व्यक्ति एक ही समय में दोनों बीमारियों से ग्रसित नहीं हो सकते हैं। डॉ. सोलोमॉन कहते हैं कि इंफ्लूएंजा का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन अभी तक नहीं देखा गया है, इसलिए फ्लू की बड़े पैमाने पर टेस्टिंग नहीं की जा रही है। गौरतलब है कि अभी भारत सहित पूरे विश्व में कोरोना वायरस का कहर अपने चरम पर है। ऐसी स्थिति में मरीजों के बीच कोविड-19 और फ्लू के बीच विभेद करना मुश्किल हो रहा है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment