हाथरस की बेटी का दर्द सुन तिलमिलाया पवन जल्लाद, मुझे मिले फांसी देने का मौका - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

30 September 2020

हाथरस की बेटी का दर्द सुन तिलमिलाया पवन जल्लाद, मुझे मिले फांसी देने का मौका


Hathras Case: एक बार फिर देश में गैंगरेप करने वालों के खिलाफ फांसी की सजा की मांग उठ रही है. फिर से वही गुस्सा वही उबाल देखने को मिल रहा है और राजनीतिक पार्टियां भी बयानबाजी का मौका नहीं छोड़ रही. बेहद दुख की बात है कि एक बार फिर एक बेटी गैंगरेप का शिकार हुई और फिर उसकी मौत हो गई. ऐसा तो नहीं है कि उसने जिंदगी जीने की कोशिश नहीं की होगी लेकिन वो हार गई उस दर्द के आगे जो उन जानवर दंरिदों ने उसे दिया था. शायद उसके भी आखिरी शब्द यही होंगे कि आरोपियों को कड़ी सजा मिले. देश की इस बेटी का दर्द जब पवन जल्लाद (Pawan Jallad) के कानों तक पहुंचा तो उनकी भी रूह कांप गई.

पीड़िता का दर्द सुन तमतमाया जल्लाद
पवन जल्लाद वही हैं जिन्होंने निर्भया के दोषियों को फांसी पर चढ़ाया था और जब हाथरस की बेटी का दर्द उन्होंने सुना तो वह सहम गए और गुस्से से तिलमिला उठे. उन्होंने हाथ की बांहे फुलाते हुए कहा कि अब भी इन हाथों में बहुत जान है और अगर ऊपर वाले ने चाहा तो इन चारों दंरिदों को भी वह अंजाम तक जरूर पहुंचाएंगे, उन्होंने गुस्से में कहा कि अगर मौका मिलेगा तो वह आज ही इन चारों के लिए फंदा तैयार करने के लिए राजी हैं. उन्होंने पीड़िता की मां से वादा किया कि इस हालात में वह उनके साथ हैं और लड़ाई जरूर लड़ेंगे.

ऐसे लोग कभी सुधर नहीं सकते
पवन जल्लाद ने एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि जब निर्भया को न्याय देते हुए आरोपियों को फांसी दी थी तो उन्हें अहसास था कि इस पर पूरे देश की नजर है और हर इंसान इसे देख-सुन रहा है. उन्हें लगा था शायद ये सब देखने के बाद कोई और युवा इस तरह की घिनौनी वारदात को अंजाम नहीं देगा लेकिन जब मैंने हाथरस गैंगरेप केस की पीड़िता का दर्द सुना तो लगा कि ऐसे लोग कभी सुधर ही नहीं सकते.

मुझे मिले फांसी देने का मौका
पवन जल्लाद हाथरस केस में पीड़िता की हुई मौत से काफी दुखी हैं और उन्होंने निर्भया केस के हर पल को देखा है और महसूस किया है. उन्होंने उस निर्भया की मां के दर्द को भी महसूस किया है जिन्होंने बेटी को न्याय दिलाने के लिए इतने सालों तक लड़ाई लड़ी. पर अब जल्लाद कहते हैं कि मेरी गुजारिश है कि इस केस को इतना लंबा न खीचें.बल्कि सरकार और पुलिस प्रशासन मामले को फॉस्ट ट्रैक कोर्ट में चलाएं. ज्यादा से ज्यादा 6 महीने के भीतर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी कर आरोपियों को सजा दिलाए. उन्होंने कहा कि मुझे इन आरोपियों को फांसी देने का मौका मिले ऐसा होने से उन्हें सुकून मिलेगा.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment