यूपी की बेटी ने रचा इतिहास! राफेल की पहली महिला फाइटर पायलट बनकर किया प्रदेश का नाम रोशन - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

24 September 2020

यूपी की बेटी ने रचा इतिहास! राफेल की पहली महिला फाइटर पायलट बनकर किया प्रदेश का नाम रोशन

 

shivangi-singh-Rafael-first-female-fighter-pilot

देश की बेटियां हर क्षेत्र में कामयाबी का परचम लहरा रही हैं और हाल ही में उत्तर प्रदेश के वाराणसी (uttar pradesh varanasi) की बेटी फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह (Shivangi Singh) ने पूरे प्रदेश और घर का नाम रोशन किया है. जी हां, वाराणसी की इस बेटी को सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान राफेल (Fighter Jet Raffle) को उड़ाने का मौका मिला है. शिवांगी राफेल के स्कवाड्रन गोल्डन एरो में पहली महिला पायलट के तौर में शामिल हुई हैं. बेटी की इस कामयाबी पर उनके परिवार के लोग खुशियां मना रहे हैं.

बेटी की उपलब्धि पर पिता का सीना चौड़ा
हाल ही में राफेल विमान को भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया था और इसे अब तक पुरुष पायलट उड़ा रहे थे. लेकिन महिला पायलट की जरूरत को देखते हुए ट्रेक्निकल ट्रेनिंग रखी गई जिसमें शिवांगी सिंह क्वालिफाई हो गई और राफेल की पहली स्कवाड्रन का हिस्सा बनी.
shivangi-singh-flight-lieut
बेटी की इस उपलब्धि पर पिता का सीना गर्व से चौड़ा गया है. उन्होंने बताया कि, दो दिन पहले जब बिटिया से बात हुई तो उसने हमें इसकी जानकारी दी. हम बिटिया की उपलब्धि पर काफी खुश हैं. शिवांगी सिंह ने अपनी इस उपलब्धि से एक मिसाल पेश की है कि अगर हो हौंसला तो पंखों को उड़ान जरूर मिलती है.

फाइटर प्लेन में उड़ान भरती हैं बिटिया
काशी की बिटिया की कामयाबी पूरे देश के लिए एक खुशी है. लेकिन उन्होंने देश और प्रदेश को ऐसा खुशी का पहला मौका नहीं दिया बल्कि इससे पहले साल 2017 में भी उन्होंने भारतीय वायुसेना में फाइटर प्लेन उड़ाने वाली पांच महिला पायलटों में खुद की जगह बनाकर इतिहास रचा था और
flight-lieutenant-shivangi-singh-
देखिए 3 साल बाद शिवांगी के नाम एक बड़ी उपलब्धि जुड़ गई है. वैसे शिवांगी राफेल स्कवाड्रन का हिस्सा बनने से पहले फाइटर प्लेन मिग 21 बाइसन उड़ाती हैं और अब अंबाला में राफेल का तकनीकी प्रशिक्षण ले रही हैं.

बचपन से आसमान में उड़ना चाहती थीं
वैसे तो हर बेटी आसमान में उड़ान भरने के सपने देखती है लेकिन शिवांगी ने अपने सपने को सच कर दिखाया है. शिवांगी वाराणसी के फुलवरिया गांव की रहने वाली हैं और इनके पिता कुमारेश्वर सिंह टूर एंड ट्रैवेल का काम करते हैं.
shivangi singh rafael
शिवांगी की मां बिटिया के बारे में बताती हैं कि, उसे बचपन से ही आसमान में उड़ने का शौक था और वह काफी नटखट व चंचल थी. बहरहाल शिवांगी सिंह की इस कामयाबी पर  बॉलीकॉर्न.कॉम की पूरी टीम उन्हें बधाई देती है. आप भी कमेंट करके भारत की बिटियां की बधाई दें।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment