गांधी जी ने कभी - भी हवाई जहाज में सफर नहीं किया, जानें उनसे जुड़ी कुछ रोचक जानकारी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 September 2020

गांधी जी ने कभी - भी हवाई जहाज में सफर नहीं किया, जानें उनसे जुड़ी कुछ रोचक जानकारी


1.
 गांधीजी का जन्म शुक्रवार को हुआ था, भारत को शुक्रवार को स्वतंत्रता मिली और जिस दिन गांधी जी की हत्या हुई थी वह भी शुक्रवार का ही दिन था.

2. गाँधी जी शुरू से ही निडर और साहसी नहीं थे. वे अपनी आत्मकथा में लिखते है कि-

3. विकिपीडिया पर गाँधी जी की जीवनी 170 से भी अधिक भाषाओं में लिखी है, जो संभवतः किसी भी अन्य भारतीय की तुलना में कहीं अधिक है.

4. गाँधी जी गाय या भैंस का नहीं बल्कि बकरी का दूध पीते थे.

5. एक बार साउथ अफ्रीका में प्रथम दर्जे में रेल यात्रा करने के दौरान एक अंग्रेज ने नस्ल भेद के कारण उन्हें ट्रेन से धक्के मार कर निकाल दिया, जबकि उनके पास सही टिकट मौजूद था.

6. जब गाँधी जी 1931 मे इंग्लैंड में थे तो उन्होंने रेडीयो प्रसारण द्वारा अमरीकी वासियों को संदेश दिया था. Americans ने सबसे पहले जो उनके शब्द सुने, वह थे, “Do i have to speak into this thing?” ( क्या मुझे इस चीज में बोलना है?)

7. महात्मा गाँधी  हेमशा दूसरों की मदद करने को तत्पर रहते थे. एक बार वह ट्रेन में थे. ट्रेन जैसे ही चली उनका एक जूता नीचे पटरी पर गिर गया. उन्होंने फ़ौरन अपना दूसरा जूता निकाला और उसके पास फेंक दिया ताकि वह जोड़ा जिसे मिले उस के काम आ सके.

8. वह एक महान लेखक थे, उन्होंने 50,000 पृष्ठ से भी अधिक का लेखन कार्य किया.

9. गाँधी जी समय के बहुत पाबंद थे. वह अपनी डॉलर घड़ी हमेशा पास रखते थे. पर 30 जनवरी 1948 को जिस दिन उनकी हत्या हुई थी , वह प्रार्थना के लिए मीटिंग की वजह से 10 मिनट लेट हो गए थे.


mahatma gandhi rochak tathya

10. टाइम मैगजीन ने वर्ष 1930 के गाँधी जी को  “Man of the year” चुना था.

11. आज़ाद होने के बाद कुछ पत्रकारों ने जब गाँधी जी से अंग्रेजी में सवाल किया तब उन्होंने कहा, “मेरा देश अब आजाद हो गया है, अब मैं हमारी हिन्दी भाषा ही बोलूँगा। राष्ट्र भाषा के विषय में उनका विचार था-

    12. उन्होने भारत और South Africa में एक संपादक के तौर पर

    हरीजन

    Indian Opinion

    और युवा भारत (Young India)

    सहित कई समाचार पत्रो का हिन्दी, अंग्रेजी और गुजराती भाषा में संपादन किया है.

    13. गाँधी जी की आत्मकथा का नाम है “सत्य के प्रयोग”  इसे 20वीं सदी की 100 सबसे आध्यात्मिक किताबों में जगह दी गई है. यह किताब लगभग हर भाषा में छप चुकी है लेकिन मूल रूप में गाँधी जी ने इसे गुजराती में लिखा था.

    14. 1948 में गाँधी जी को शाँति के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया था, पर उनकी हत्या हो जाने पर नोबोल पुरस्कार कमेटी ने उस साल शाँति का पुरस्कार किसी को भी नही देने का निर्णय लिया।

    महात्मा गाँधी रोचक तथ्य

    15. भारत की नोटों पर गाँधी जी का चित्र शुरू से नहीं था, 1996 में RBI ऐसे नोट चलन में लेकर आई.

    16. गाँधी जी के दांत खराब होने के कारण उनके पास नकली दांतो का एक जोड़ा था जिसे वह खाना खाते वक़्त प्रयोग करते थे.

    17. जब वह दक्षिण अफ्रीका  मे थे तब उनकी इनकम  1500 डॉलर प्रति वर्ष तक पहुँच गई थी जो उस समय के हिसाब से काफी अधिक थी, लेकिन गांधी जी इसका बड़ा हिस्सा दान कर दिया करते थे.

    18. गाँधी जी को भले ही शाँति में नोबेल पुरस्कार ना मिला हो, पर यह पुरस्कार  प्राप्त करने वाले पाँच नेता-

    मार्टिन लुथर किंग

    दलाई लामा

    आंग सान सुई

    नेलसन मंडेला और

    अर्जनटीना के अडोल्फो

    यह सभी गाँधी जी के विचारों से प्रभावित थे और उनसे प्रेरणा लेते थे.

    19. गाँधी जी को बार-बार उनकि फोटो खींचा जाना पसंद नहीं था, लेकिन उस समय वही ऐसे लीडर थे जिनकी फोटो हर फोटोग्राफर खींचने को बेताब रहता था.

    20. 1915 में  जब गाँधी जी शाँति निकेतन में रबीन्द्र नाथ टैगोर से मिले तो उन्होंने  टैगोर जी को “नमस्ते गुरूदेव” कह कर संबोधित किया. इस पर टैगोर जी ने कहा कि अगर मैं गुरूदेव हूँ तो आप “महात्मा” हैं. तब से ही टैगोर जी का के नाम के पहले ‘गुरूदेव’ और गाँधी जी के नाम के आगे ‘महात्मा’ लगने लगा.

    21. गाँधी जी ने कभी भी हवाई जहाज में सफर नही किया.

    22. भारत की स्वतंत्रता के लिए गाँधी जी कई बार जेल गए, कुल मिलाकर लगभग 6 साल 5 महीने.

    23. भारत के तीन राष्ट्रीय पर्व हैं-

    15 अगस्त

    26 जनवरी और

    2 अक्टूबर गाँधी जयंती

    24. गाँधी जी ने लंडन से वकालत की डिग्री प्राप्त की थी और लंम्बे समय तक वकालत का पेशा भी किया था मगर वह इसमें बिलकुल भी सफल नही हुए क्योंकि वह झूठ नही बोलते थे.

    24. गाँधी जी को राष्ट्रपिता की उपाधि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने दी थी.

    25. गाँधी जी तेज क़दमों से चलते थे. उनका कहना था कि- चलना व्यायाम का सर्वोत्तम तरीका है.

    26. 30 जनवरी, 1948 को दिल्ली स्थित बिड़ला हाउस में शाम 5 बजकर 17 मिनट पर उन्हें नाथू राम गोडसे द्गोवारा गोली मारी गई थी. मृत्यु से ठीक पहले उन्होंने कहा था – ‘हे राम

    27. अमेरिका में अश्वेतों के हकों के लिए संघर्ष करने वाले मार्टिन लूथर किंग 1959 में बापू की समाधी राजघाट आए थे। राजघाट पर बापू को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनकी दोनों आंखें नम हो गईं थीं।

    28. गाँधी जी को कुल पांच बार नोबेल पीस प्राइज के लिए नॉमीनेट किया गया था, पर इस अवार्ड का दुर्भाग्य था कि यह उन्हें एक बार भी नहीं मिल सका.

    29. Apple के co-founder Steve Jobs गाँधी जी की तरह दिखने के लिए गोल फ्रेम चश्मा पहनते थे.

    30. लंदन में जब वे पढाई कर रहे थे तब वह रोज लगभग 15 किलोमीटर पैदल चल कर पैसे बचाते थे.

    31. 1930 में गाँधी जी अपने आश्रम से लगभग 400 किलोमीटर पैदल चले थे , जिसे दांडी मार्च के रूप में याद किया जाता है.

    32. गाँधी जी की पत्नी कस्तूरबा उनसे एक साल बड़ी थीं.

    33. स्वतंत्रता दिवस पर नेहरु जी द्वारा दिया गया प्रसिद्द भाषण “Tryst With Destiny” पूरे देश ने सुना था पर गाँधी जी ने नहीं.

    34. जिस वाहन में 1948 में महात्मा गांधी को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया था वही वाहन सन 1997 में मदर टेरेसा की अंतिम यात्रा के लिए इस्तेमाल किया गया था.

    Mahatma Gandhi Interesting and Amazing Facts in Hindi

    35. गांधी जी की शवयात्रा को आजाद भारत की सबसे बड़ी शवयात्रा थी. इसमें करीब 10 लाख लोग साथ चल रहे थे और करीब 15 लाख लोग रास्ते में खड़े थे. यहां तक की लोग खंभो पर भी चढ़े हुए थे.

    आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

    No comments:

    Post a Comment