मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल पर एलडीए की टेढ़ी नजर, परिवार संग मकान बचाने को लगा रहे चक्कर - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

21 September 2020

मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल पर एलडीए की टेढ़ी नजर, परिवार संग मकान बचाने को लगा रहे चक्कर

 

लखनऊ। गाजीपुर से बसपा सांसद अफजाल अंसारी अपनी पत्नी और बेटियों के साथ आज लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) के ऑफिस पहुंचे। जहां उन्होंने प्राधिकरण उपाध्यक्ष शिवाकांत द्विवेदी मुलाकात की और अपना पक्ष रखा। इसके बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि जब उनके घर का नक्शा पहले खसरा नंबर 93 से बाहर था तो अब एकदम से किए उसे खसरा नंबर 93 में दिखाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि मकान बनाने के लिए कई विभागों से जो उन्हें अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) मिली थी वो भी अधिकारियों को दी हैं। अफजाल अंसारी ने एलडीए की इस कार्रवाई को एक तरफा बताया है।

अफजाल अंसारी का मकान उनके भाई मुख्तार अंसारी के मकान की तरह गाटा संख्या 93 पर ही बना है, जो शत्रु सम्पत्ति है। एलडीए की ओर से लखनऊ जिला प्रशासन को भेजी गई चिट्ठी के बाद इस मकान की दोबारा पैमाइश कराई गई, जिसमें यह पाया गया कि अफजाल का भी मकान शत्रु संपत्ति पर ही बना हुआ है। इसकी जानकारी जिला प्रशासन की तरफ से भेजी गई चिठ्ठी में एलडीए को दी गई, जिसके बाद यह साफ हो गया था कि अफजल अंसारी के मकान पर भी प्रशासन कार्रवाई करेगा। गौरतलब है कि इसी तरह की जमीन बहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का भी मकान बना हुआ था। जिसे एलडीए ने ही बीते दिनों ध्वस्त कर दिया था।

इस मामले की सुनवाई के लिए एलडीए की तरफ से अफजाल अंसारी आज यानी 21 सितंबर को बुलाया गया था। जहां सुनवाई के बाद भी जब बात नहीं बनी तो अफजाल ने एलडीए की कार्रवाई को एकतरफा बताया और कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर भरोसा है। एलडीए द्वारा जब 31 अगस्त को फरहत अंसारी को नोटिस भेजा गया था तो उसके जवाब में जवाब देते हुए कहा था कि उनका मकान खसरा संख्या 104 में स्थित है। जबकि प्रशासन की जांच में मकान खसरा नंबर 93 में बना है। इसके बाद माना जा रहा है कि प्रशासन जल्द इन अवैध मकानों को भी गिरा सकता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment