निलंबित सांसदों को चाय पिलाने पहुंचे उप सभापति, पीएम ने की तारीफ, कहा- काला कानून वापस लो - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

22 September 2020

निलंबित सांसदों को चाय पिलाने पहुंचे उप सभापति, पीएम ने की तारीफ, कहा- काला कानून वापस लो

नई दिल्ली। कृषि बिल को लेकर पक्ष-विपक्ष में मचे घमासान के बीच राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश ने सोमवार को संसद में हंगामा करने वाले सभी 8 सांसदों को राज्यसभा की कार्यवाही से निलंबित कर दिया है। अपने निलंबन के विरोध में ये सभी राज्यसभा सदस्य संसद परिसर में गाधी प्रतिमा के पास ही धरने पर बैठे गए हैं। धरने पर बैठे इन सभी सदस्यों को जब मंगलवार सुबह उप सभापति हरिवंश चाय पिलाने पहुंचे तो इन सभी सांसदों ने चाय पीने से इंकार दिया, और कहा- हम चाय तब पिएंगे जब आप काला कानून वापस लेंगे। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने उप सभापति हरिवंश के इस दरियादिली की तरीफ करते हुए कहा- ”यह लोकतंत्र के लिए खूबसूरत संदेश है”।

पीएम मोदी ने उप सभापति हरिवंश की प्रशंसा करते हुए ट्वीट कर लिखा “बिहार की धरती ने सदियों पहले पूरे विश्व को लोकतंत्र की शिक्षा दी थी। आज उसी बिहार की धरती से प्रजातंत्र के प्रतिनिधि बने श्री हरिवंश जी ने जो किया, वह हर लोकतंत्र प्रेमी को प्रेरित और आनंदित करने वाला है।” पीएम मोदी ने एक बाद एक तीन ट्वीट किया।

इसके आगे पीएम मोदी विपक्ष पर निशान साधते हुए लिखा, “हर किसी ने देखा है कि बीते दो दिन पहले लोकतंत्र के मंदिर में उन्हें किस प्रकार अपमानित किया गया, उन पर हमला किया गया और फिर वही लोग उनके खिलाफ धरने पर भी बैठ गए। लेकिन आपको आनंद होगा कि आज हरिवंश जी ने उन्हीं लोगों को सवेरे-सवेरे अपने घर से चाय ले जाकर पिलाई। यह हरिवंश जी की उदारता और महानता को दर्शाता है। लोकतंत्र के लिए इससे खूबसूरत संदेश और क्या हो सकता है। मैं उन्हें इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं।”

संसद सदस्यों ने चाय पीने से किया इनकार- राज्यसभा से निलंबित होने के बाद ये सांसद गांधी प्रतिमा के पास धरने पर बैठ गए है। धरने पर बैठे सदस्यों के लिए जब मंगलवार की सुबह उप सभापति हरिवंश चाय और नाश्ता लेकर पहुंचे तो सभी सांसदों ने चाय पीने से इंकार कर दिया और कहा किसानों के खिलाफ जो बिल लाया गया है उसे वापस लो। इस दौरान उप सभापति ने कहा कि वो व्यक्तिगत तौर पर इसलिए मिलने के लिए आए हैं क्योंकि वो सभी उनके सहयोगी हैं। लेकिन इन सांसदों ने कहा कि अगर व्यक्तिगत तौर पर मिलना है तो या तो हरिवंश सांसदों के घर आएं या सांसदों को अपने घर बुलाएं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment