पितृपक्ष में पितरों को इन चीजों का दान करने से मिलते हैं ये 7 लाभ - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

01 September 2020

पितृपक्ष में पितरों को इन चीजों का दान करने से मिलते हैं ये 7 लाभ


पितृपक्ष में कहा जाता है कि अपने पितरों को वस्तु भेंट करने और भोजन देने से उनकी आत्मा को शांति मिलती है. लेकिन कई बार लोग ऐसा करने से कतराते हैं. और सोचते हैं कि ऐसा करने से हमें क्या लाभ होने वाले हैं. क्योंकि उन्हें लगता है कि मृत्यु हो जानें के बाद उन वस्तुओं और सामानों का उपभोग वो व्यक्ति कैसे करता होगा. और यही जानकारी देने के लिए आज हम आपको बताएंगे कि हमारे पूर्वजों को भोजन, पानी और वस्तु देने से क्या-क्या फायदे होते हैं.

जिस प्रकार मनुष्य को अन्न खाने से तसल्ली मिलती है, और उसका पेट भरता है. उसी प्रकार पितरों को आहार का दान करने से उन्हें उसकी गंध और रस मिलने से उनके पेट को तृप्ति मिलती है. यानी कि वो अन्न और जल का केवल सारतत्व ही ग्रहण करते हैं. और जो उनके नाम पर जो वस्तु दान की जाती है. वो यहीं रह जाती है. हिंदु धर्म की कुछ मान्यताओं के अनुसार यमराज जी का कहते हैं कि अपने पितरों का श्राध्द करने से व्यक्ति को एक नहीं बल्कि अनेकों लाभ प्राप्त होते हैं. जिसमें से हम आपको 7 लाभों के बारे में आज बताएंगे.

पितरों का श्राद्ध करने से मिलते हैं ये लाभ…

1- परिवार में किसी भी प्रकार से धन की कमी नहीं होती.

2- परिवार में किसी भी प्रकार से धन की कमी नहीं होती.

3- श्राद्ध करने से मनुष्य का शरीर शक्तिशाली और उसे यश की प्राप्ति होती है.

4- श्राद्ध करने से मनुष्य को पुत्र प्राप्ति का वरदान मिलता है.

5- श्राद्ध करने से पितृगण स्वास्थ्य, बल, श्रेय, और मृत्यु के बाद स्वर्ग प्राप्ति का वरदान देते हैं.

6- श्राद्ध करने से मनुष्य की आयु में भी बढ़ोत्तरी होती है.

7- श्राद्ध करने वाले परिवार में किसी भी तरह का क्लेश नहीं होता.

और पितृपक्ष में पितरों को याद करके पूजा-पाठ करने और उन्हें दान-दक्षिणा देने से हमपर उनका आशिर्वाद सदा के लिए बना रहता है. लेकिन पितरों के पूजा-पाठ या दान-दक्षिणा में कोई गड़बड़ी होने से आपके सभी कामों पर पानी फिर सकता है. इसलिए सारे काम आराम से करने की जरूरत है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment