WHO प्रमुख की कोरोना वायरस पर अहम जानकारी, खुद बताया आखिर क्या है सच्चाई - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

01 August 2020

WHO प्रमुख की कोरोना वायरस पर अहम जानकारी, खुद बताया आखिर क्या है सच्चाई

चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस (coronavirus) महामारी ने कोहराम मचाया हुआ है. कोरोना महामारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) कई बार साफ-साफ कह चुका है कि, हमें इसके साथ ही जीना सीखना होगा और अब एक फिर से WHO के प्रमुख टेड्रोस एडहोम घेब्येयियस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा कि, दुनिया को कोरोना वायरस (Coronavirus) से जल्दी छुटकारा नहीं मिलेगा. WHO प्रमुख के मुताबिक, इस तरह की महामारी सदियों में एक बार होती है लेकिन इसका प्रभाव आने वाले सालों में देखा जाता है.

कोरोना की सच्चाई
WHO प्रमुख ने कोरोना को वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल (Global Health Emergency) घोषित करने के बाद चौथी बैठक में हिस्सा लिया था जिसमें उन्होंने दुनिया को इस महामारी की सच्चाई बताते हुए कहा, ‘कई ऐसे देश थे जिनका मानना था कि उन्होंने कोरोना को हरा दिया है और वही देश नए मामलों का सामना कर रहे हैं. वहीं जो देश महामारी के शुरुआती दौर में कम प्रभावित हुए थे अब वहां के हालात दुनिया को डरा रहे हैं. भले ही वैक्सीन को लेकर तेजी से काम किया जा रहा है लेकिन हमें कोरोना वायरस के साथ जीना सीखना होगा और इसका मुकाबला करना होगा.’

आने वाले सालों में दिखेगा प्रभाव
WHO प्रमुख का कहना है कि,‘कोरोना वायरस पर कई वैज्ञानिक प्रश्नों को हल कर दिया गया है और कई सवाल ऐसे हैं जिनके जवाब अब दिए जा रहे हैं. दुनिया के अधिकतर लोग इस महामारी की संवेदनशीलता को देखते हुए सतर्कता बरत रहे हैं पर अब भी कई लोग महामारी को हल्के में ले रहे हैं. पर ऐसी बड़ी महामारी सदियों में एक बार होती है जिसका असर आने वाले सालों में भी दिखता है.’

17 मिलियन से ज्यादा लोग संक्रमित
भले ही अब तक ये साबित नहीं हुआ है कि कोरोना के पीछे चीन का वुहान शहर है. लेकिन कई ऐसी रिपोर्ट्स सामने आई हैं जिनमें दावा किया गया कि, कोरोना को जन्म चीन के वुहान शहर ने दिया और यहीं से पूरी दुनिया में कोरोना फैला. इस महामारी से अब तक 17 मिलियन से अधिक लोग संक्रमित हैं और करीब 675,000 लोगों की संक्रमण की वजह से जान जा चुकी है. वैक्सीन पर कई देशों में काम किया जा रहा है. पर बार-बार WHO का यही कहना है कि, हमें इस वायरस के साथ जीना ही होगा.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment