बिल्डर ने ढहाया प्राचीन हनुमान मंदिर, विरोध करने पर मिली अंजाम भुगतने की धमकी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

22 August 2020

बिल्डर ने ढहाया प्राचीन हनुमान मंदिर, विरोध करने पर मिली अंजाम भुगतने की धमकी

पाकिस्तान में हिन्दू मंदिर को एक दंबग बिल्डर ने गिरा दिया और इसके बारे किसी भनक तक नहीं लगी। मामला तब सुर्ख़ियों में आया जब सैकड़ों की संख्या में हिन्दुओं ने प्रदर्शन शुरू किया। मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत से सामने आया जहां एक प्राचीन हनुमान मंदिर गिरा दिया। जिसके बारे में जब हिन्दुओं को जानकारी मिली तो बड़ी संख्या में वो फिदा हुसैन शेख रोड एकत्र होने लगे जिसके बाद मामले को बढ़ता देख पुलिस मौके पर पहुंची और निर्माण स्थल सील कर दिया। बताया जा रहा है कि बिल्डर मंदिर को तोड़ कर वहां एक आवासीय मकान बना रहा है। सहायक आयुक्त का कहना है कि जांच हमने शुरू कर दी है। तनाव को देखते हुए निर्माणधीन स्थल को भी इसलिए सील किया गया है ताकि जांच की जा सके।

प्राचीन मंदिर को तोड़े जाने पर मोहम्मद इरशाद बलूच का कहना है कि पूजा स्थल को ढहा दिया गया यह अन्याय है। यह पुराना मंदिर था जिसे हम बचपन से देखते आ रहे थे। हीरा लाल का कहना है कि हमे बिल्डर ने हमे पूरा आश्वासन दिया गया था कि मंदिर को नहीं गिराया जाएगा, लेकिन रविवार की देर शाम मंदिर ढहा दिया गया। मीडिया से बात करते हुए स्थानीय निवासी हरेश ने बताया कि कोरोना संकट की वजह से लॉकडाउन लगे होने की वजह से किसी को भी मंदिर आने की अनुमति नहीं थी। जिसका लाभ बिल्डर ने उठाया और प्राचीन मंदिर को ढाह दिया।

स्थानीय लोगों की मांग है कि हनुमान मंदिर को दोबारा बनाया जाये। लोगों का कहना है कि बिल्डर ने उनसे वादा किया था कि वो उन्हें वैकल्पिक आवास देगा और मंदिर भी नहीं तोड़ेगा लेकिन उसने मंदिर तोड़ दिया। पाकिस्तान में लगातार ऐसी घटनाएं सामने आ रही है जिसमे अल्पसंख्यक को परेशान किया जा रहा है। उन्हें पूजा करने से रोका जाता है, उनकी लड़कियों का अपहरण करके उनका धर्म परिवर्तन कर उनकी जबरन शादी की खबरें अक्सर सामने आती रहती हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment