दुस्साहस: तनाव के बीच कैलाश-मानसरोवर में भी चीन ने तैनात की मिसाइलें - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

31 August 2020

दुस्साहस: तनाव के बीच कैलाश-मानसरोवर में भी चीन ने तैनात की मिसाइलें

 


भारत और चीन के बीच चल रहे हैं तनाव को लेकर चीन भले ही बातचीत के जरिए खत्म करने की बातें कर रहा है लेकिन सच इसके बिलकुल विपरीत है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर चल रहे तनाव के बीच खबर आ रही है कि चीन ने कैलाश-मानसरोवर की झील के एक हिस्से में जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलों को तैनाती कर रहा है। चीन की इस हरकत पर विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसा करके चीन भारत को उकसाने की ही कोशिश कर रहा है। चीन की इस हरकत से यह निश्चित है दोनों देशों के मध्य विवाद और बढ़ेगा। कैलाश-मानसरोवर का हिन्दू धर्म में विशेष स्थान है, इस स्थल को हिंदू भगवान शिव और पार्वती का निवास मानते हैं। तिब्बती बौद्ध इस पहाड़ को कंग रिंपोछे कहते हैं। वहीं जैन से अस्तपद कहते हैं। ऐसी भी मान्यता है कि जहां उनके 24 आध्यात्मिक गुरुओं में से प्रथम गुरु ने यहीं मोक्ष की प्राप्ति की थी।

लंदन बेस्ड थिंक टैंक विशेषज्ञ और लेखक प्रियजीत देबसरकार का मानना है कि, चीन ऐसा सब इसलिए कर रहा है जिससे भारत को उकसाया जाये। ऐसा ही कुछ वो लद्दाख से पूर्वी और मध्य सेक्टर में किया है। उनका यह भी कहना है कि, जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल को तिब्बत में तैनाती करने पर भी हैरानी नहीं होनी चाहिए। ऐसा सिर्फ सत्तावादी अस्थिरता और भारत को उकसाने के लिए है। जिसने चीनी आक्रामकता के सामने पीछे हटने से इनकार कर दिया है।

यानी यह साफ़ है कि चीन ने ऐसा सपने में भी नहीं सोचा था कि भारत उसे अपने दम पर ही जोरदार जवाब देगा। इसलिए चीन भारत पर दबाव बनाने की हर कोशिश कर रहा है। गौरतलब है कि चीन अपने 500 सैनिकों के साथ भारत में घुसपैठ करने की कोशिश 29 अगस्त की रात में कर रहा था। इस दौरान पेंगोंग त्सो झील पास भारतीय और चीनी सैनिकों की बीच झड़प हुई हैं। जिसमे उसे अब दोबारा मुंह की खानी पड़ी है और पूरे विश्व के सामने उसे शर्मिंदगी झेलनी पड़ी है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment