हस्तरेखा का पड़ता है आपके जीवन पर गहरा असर, नहीं माने जाते ये शुभ संकेत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 August 2020

हस्तरेखा का पड़ता है आपके जीवन पर गहरा असर, नहीं माने जाते ये शुभ संकेत

अमूमन आपके हाथों की लकीरें इस बात को बयां करती हैं, कि आपका जीवन कैसा रहने वाला है, क्या कोई पेरशानी का संकट तो नहीं आने वाला है। या फिर बहुत अच्छे ग्रह में आप प्रवेश कर रहे हैं। यह सब एस्ट्रोलॉजी का एक पार्ट है। जो काफी हद तक सच साबित भी हुआ है। हालांकि जो लोग एस्ट्रोलॉजी पर विश्वास करते हैं उनके लिए यह खबर काम की है। हाथों में यूं तो कई रेखाएं होती हैं, लेकि‍न इनमें जीवन रेखा सबसे खास होती है। चूंकि इसी से ही आपका आगे का भविष्य देखा जाता है। ज्योतिषों का मानना है कि ये रेखाएं व्‍यक्‍त‍ि के भूतकाल को भी अपने अंदर समेटे हुए होती हैं। जिसमें समय-समय पर बदलाव आता रहता है। आपको बतातें हैं कि आपके हाथों की जीवन रेखा क्या कहती हैं। हाथों में जीवन रेखा का क्षेत्र अंगूठे के न‍िचले हि‍स्‍से में होता है। यहां शुक्र का भी स्‍थान रहता है। जीवनरेखा तर्जनी और अंगूठे के मध्‍य से शुरू होकर मणिबंध तक जाती है। इसका फैलाव आर्क की तरह से होता है।

ज्‍योतिषाचार्य पं.अभ‍ि भारद्वाज के मुताबिक जीवनरेखा व्‍यक्‍त‍ि के जीवन और इससे जुड़ी घटनाओं के बारे में बहुत कुछ बताती है। इससे व्‍यक्‍त‍ि की उम्र और जीवन में संभावि‍त रोगों का पता चल जाता है। ज्‍योतिषाचार्य के अनुसार यदि किसी व्‍यक्‍त‍ि के हाथ में जीवन रेखा लंबी, पतली, साफ और बि‍ना क‍िसी रुकावट के है तो यह एक अच्‍छा संकेत माना जाता है।

अगर व्‍यक्‍त‍ि के हाथों में जीवन रेखा पर कई जगह छोटी-छोटी रेखाएं क्रॉस कर रही हैं तो यह अच्‍छा संकेत नहीं माना जा सकता। इन बिंदु को पार करके जीवन रेखा पार करते हुए आगे नि‍कल जाए तो इसका मतलब है क‍ि परेशानी तो होगी, लेक‍िन व्‍यक्‍त‍ि उससे उभर जाएगाा।

जीवन रेखा पर सफेद बिंदु का होना आंखों के रोग का इशारा करता है। इसके साथ जीवन रेखा पर तारे का न‍िशान दिखे तो यह व्‍यक्ति‍ में रीढ़ से जुड़ी बीमारि‍यों के होने का संकेत है।

महत्वपूर्ण बात जीवन रेखा पर क्रॉस, धब्‍बा, या त‍िल होना हस्‍तरेखा व‍िज्ञान में अच्छा संकेत नहीं है। यह भवि‍ष्‍य में अनहोनी का संकेत देता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment