शर्मनाक, एक बेटा नेता दूसरा था अधिकारी फिर भी सड़क पर पड़ी मिली बूढ़ी मां, सिर पर लगे थे कीड़े - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

20 August 2020

शर्मनाक, एक बेटा नेता दूसरा था अधिकारी फिर भी सड़क पर पड़ी मिली बूढ़ी मां, सिर पर लगे थे कीड़े

शर्मनाक, एक बेटा नेता दूसरा था अधिकारी फिर भी सड़क पर पड़ी मिली बूढ़ी मां, सिर पर लगे थे कीड़े

पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब में एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है, रोंगटे खड़े हो जाएंगे जब आप कुछ ऐसे इंसानों के बारे में जानेंगे जो खुद को जन्‍म देने वालों की भी सेवा करने की इच्‍छा नहीं रखते हैं । मामला दिल को चीर देने वाला है, क्‍योंकि यहां एक 80 साल की बुजुर्ग महिला खाली मैदान में ईटों के बीच बहुत ही खराब हालत में मिली हैं । शरीर पर पूरे कपड़े तक नहीं थे । हैरानी आपको ये जानकर होगी कि इस बुजुर्ग महिला के दो बेटे उच्‍च पदों पर तैनात हैं ।

शरीर पर रेंग रहे थे कीड़े
महिला को गुज्जर रोड पर मिट्टी के गारे से बनी दो-दो फुट की दीवारों के ऊपर प्लाई के टुकड़ों के बीच से रेस्क्यू किया गया है । बुजुर्ग के शरीर पर पूरे कपड़े तक नहीं थे । इतना ही नहीं उनके सिर पर कीड़े तक रेंग रहे थे । जब किसी राहगीर की नजर महिला पर पड़ी तो उन्‍होने इसकी सूचना समाज सेवी संस्था सालासर सेवा सोसायटी को दी । समाज सेवी संस्था ने ही इसके बाद  पुलिस की मदद से महिला को रेस्‍क्‍यू किया और सरकारी अस्पताल में दाखिल करवाया ।

एक बेटा नेता तो दूसरा अधिकारी है
महिला के बारे में जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि उनके दो बेटे हैं । एक बेटा अधिकारी है तो वहीं दूसरा बड़ा । इतना ही नहीं बूढ़ी महिला की एक पोती भी है, जो कि पीसीएस अधिकारी है । संपन्‍न होने के बावजूद इस परिवार ने अपनी बढ़ी मां को इस हालत में अकेला छोड़ दिया था । महिला का अस्‍पताल में जब चेकअप हुआ था तो उनके सिर पर कीड़े पड़े मिले । उन्‍हें सांस लेने में भी दिक्‍कत हो रही थी । हालात भी बहुत नाजुक थी ।

अस्‍पताल में तोड़ा दम
बूढ़ी मां की इस हालत की खबर जब बेटों को लगी तो उनमें से कोई एक अस्‍पताल पहुंचा । दूसरे अस्‍पताल में भी दाखिल करवाया, लेकिन बूढ़ी महिला के अंदर शायद और बर्दाश्‍त करने की जान नहीं बची थी । मामले को लेकर एएसाई दिलबाग सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि बुजुर्ग महिला सोढियों का आरा कोटली रोड की रहने वाली थी । उनके बेटों ने मां की देखभाल के लिए किसी को रखा हुआ था, वह हर महीने देखभाल के लिए पैसे तो लेता रहा लेकिन देखभाल करने की बजाय उनका सड़क पर छोड़ दिया । मामले में आगे जांच के आदेश दे दिए गए हैं । लेकिन एक बूढ़ी मां के उस दर्द का हिसाब कौन देगा जो उसने आखिरी समय तक झेला । सवाल बाकी है, क्‍या इसी दिन के लिए लोग बेटा पैदा करने की तमन्‍ना रखते हैं ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment