लीची का हमशक्ल है ‘रामबुतान’ लेकिन 5 बीमारियों की दवा है ये फल - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

31 August 2020

लीची का हमशक्ल है ‘रामबुतान’ लेकिन 5 बीमारियों की दवा है ये फल

 आप में से बहुत से लोग होंगे, जो शायद इस फल का नाम भी पहली बार सुन रहे होंगे। इसका नाम ‘रामबुतान’ है, जो देखने में बिल्कुल लीची जैसा लगता है लेकिन यह उससे बहुत अलग होता है। इसकी बाहरी सतह में बाल जैसे रैशे होते हैं। आम बाजार में ये बहुत कम देखने को मिलता है, कुछ लोग इसे सुपरमार्केट या फिर ऑनलाइन स्टोर से खरीदते हैं। आमतौर पर ये दक्षिण-पूर्व एशिया में पाया जाने वाला फल है, जोकि सेहत के लिए किसी दवा से कम नहीं है।

आपको बता दें, रामबुतान में भरपूर मात्रा में विटामिन सी, कॉपर व प्रोटीन पाया जाता है। इस फल के सेवन से कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है, इस वजह से इसकी डिमांड दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है।
आइए जानते हैं किन-किन बीमारियों में रामबुतान दवा की तरह काम करता है-
शुगर की बीमारी में-
चीन में हुए अध्ययन में सामने आया था कि रामबुतान फल खून में शर्करा के स्तर को कम कर देता है। इस शोध में जब मधुमेह से पीड़ित चूहों को रामबुतान के छिलके का फेनोलिक रस दिया गया, तो यही परिणाम सामने आया। इसके छिलके में भी एंटीडायबिटीज गुण पाए गए हैं।
हाई बीपी को करता है कम
हाई बीपी हमारे दिल के लिए बेहद खतरनाक साबित होता है। लेकिन रामबुतान में मौजूद उच्च फाइबर कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे को कम करता है। इस फल का सेवन करने से हाई बीपी कम हो जाता है और कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी कम हो जाता है।
हड्डियों को करता है मजबूत
रामबुतान में फास्फोरस और विटामिन-सी पाया जाता है, जो हमारी हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। इससे हड्डियां कमजोर नहीं पड़ती।
संक्रमण से बचाता है
शोध में पाया गया है कि रामबुतान का इस्तेमाल पुराने समय में एंटी बैक्टीरियल गुणों के लिए किया जाता रहा है। ये एंटी बैक्टीरियल गुण शरीर को कई संक्रमणों से बचाते हैं।
कैंसर रोकता है
रामबुतान एक उच्च एंटीऑक्सीडेंट वाला फल है, जो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को रोकने का दम रखता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण इंफ्लेमेशन से लड़कर शरीर की कोशिकाओं को प्रभावित होने से रोक सकता हैं।
आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment