सबा नकवी ने भूमि पूजन कार्यक्रम को अनुच्छेद 370 से जोड़ा तो भड़के सबित पात्रा ने दिया यह जवाब… - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

04 August 2020

सबा नकवी ने भूमि पूजन कार्यक्रम को अनुच्छेद 370 से जोड़ा तो भड़के सबित पात्रा ने दिया यह जवाब…

कोरोना संकट के बीच अयोध्या में राम मंदिर के लिए हो रहे भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर भाजपा पर न कुछ विपक्षी दल तंज कस रहे हैं बल्कि तथाकथित लेखक भी टिप्पणी कर रहे हैं। लेखिका सबा नकवी ने एक अंग्रेजी अखबार में लिखा है कि अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाला कार्यक्रम हिंदू राष्ट्र का सबसे बड़ा आयोजन है। ऐसा लग रहा है कि भाजपा और संघ परिवार अपना इतिहास और स्मारक बनाने के लिए प्रतिबंद्ध हैं। उनके इस लेख पर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने उनपर निशाना साधते हुए इसे नेहरूवादी और अभारतीय सोच करार दिया। संबित पात्रा ने सबा के लेख की फोटो साझा करते हुए ट्वीट किया कि— यह एक टिपिकल नेहरूवादी, अभारतीय विचार एक प्रख्यात लेखक का है। उन्होंने लिखा माफ कीजिए सबा यह स्मारक सबका है, यह भारतीय है और यह भारत के संस्कार का दर्शाता है।

ज्ञात हो कि सबा ने अपने लेख में लिखा है, कोरोना संक्रमण और आर्थिक मंदी के बीच अयोध्या के भूमि पूजन के कार्यक्रम को विविधिता के तौर पर देखना गलत है। उन्होंने हिंदुत्व पर प्रहार करते हुए लिखा कि हिंदू राष्ट्र के वास्तुकारों के लिए यह शंख बजाने और आनन्दित होने का दिन है। जबकि सच यह है आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने की वर्षगांठ पर यह आयोजन किया जा रहा है। यह सत्ताशीन के लिए चिंता का नहीं बल्कि उत्सव का विषय है। इतना ही नहीं उन्होंने लिखा है कि सावरकर ने कहा था एक हिंदू वह है जिसके लिए भारत पितृभूमि और पुण्यभूमि है। उनके इस परिभाषा के तहत देश में मुसलमान और ईसाइय काफी दूर छूट जाते हैं।

जवाब में संबित पात्रा के इस ट्वीट पर सबा ने लिखा है, डियर संबित, आपके विचारों के लिए धन्यवाद, हम यह आगे भी चर्चा जारी रखेंगे। वहीं, कई यूजर्स ने लिखा है, आरएसएस देश का दुश्मन है। बता दें कि जम्मू—कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद भले ही शांति आ गई हो और यह राज्य देश का अभिन्य अंग बन गया हो। लेकिन खंडित भारत का सपना देखने वाले लेखक, विद्वान, राजनेता व अफसरशाही आज भी आहत नजर आ रहे हैं। एक वर्ष पूरे होने के बाद भी रह—रह कर अनुच्छेद 370 की बात करना यह साबित करता है कि देश में अभी भी बहुत सी ऐसी ताकतें है जो देश की संप्रभुता के लिए खतरा बनी हुई हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment