राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर फिर लगाए गंभीर आरोप, PM केयर फंड पर भी उठाए सवाल - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Monday, July 6, 2020

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर फिर लगाए गंभीर आरोप, PM केयर फंड पर भी उठाए सवाल

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के दौरान एक तरफ जहां मोदी सरकार इस वायरस को मात देने में जुटी है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी मोदी सरकार की विफलताओं को जनता के सामने उजागर करने में जुटे हुए हैं। यह सिलसिला फिलहाल अभी तक जारी है। समय-समय पर मोदी सरकार पर हमला करने वाले राहुल गांधी ने एक मर्तबा फिर से अपने ट्विटर एकाउंट से मोदी सरकार को सवालिया कठघरे में खड़ा किया है। इस मर्तबा उन्होंने सरकार पर वेंटिलेटर की धांधली का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा है कि पीएम केयर फंड के अस्पष्टता की वजह से भारतीयों की जान खतरे में डाल रहे हैं और जनता के पैसों से दोयम दर्जे का सामान खरीद रहे हैं। वहीं उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में वेंटिलेटर की खरीद पर धांधली का आरोप लगाकर प्रधानमंत्री से सफाई पेश करने की बात कही थी।

कांग्रेस प्रवक्ता ने भी दागा सवाल

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता गौरव भल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 2 हजार करोड़ रूपए से 50 हजार वेंटिलेटर खरीदे जाएंगे। इसका मतलब एक वेंंटिलेटर की कीमत 4 लाख रूपए होगी। इतना ही नहीं, इस दौरान कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिन दो कंपनियों को इसका ठेका दिया गया था। उनके मुताबिक एक वेंटिलेटर की कीमत डेढ़ लाख रूपए आएगी। अब ऐसी स्थिति में कांग्रेस ने सरकार पर सवाल दागते हुए कहा कि तो फिर एक वेंटिलेटर की कीमत 4 लाख रूपए क्यों आवंटित किए गए। कांग्रेस ने सरकार पर सवाल दागतेे हुए कहा कि क्या सरकार ने वेंटिलेटर को लेकर ओपन ट्रेडिंग की थी। ऐसी स्थिति में सरकार ओपन ट्रेंडिग को लेकर सवाल उठा रही है।


अब चिकित्सकर्मी भी उठा रहे सवाल

वहीं कांग्रेस ने डॉक्टर सहित अन्य चिकित्सकों का हवाला देते हुए कहा कि अब तो चिकित्सकर्मी भी इस वेटिंलेटर को लेकर सवाल उठा रहे हैं। उधर, कांग्रेस ने कहा कि 31 मार्च 2020 को सरकार ने 40 हजार वेंटिलेटर खरीदने का ऑर्डर दो कंपनियों को दिया था। इनमें से 30 हजार वेंटिलेटर ‘स्केन रे टेक्नॉलोजी’ नाम की कंपनी को और 10 हजार वैंटिलेटर ‘एग्वा हैल्थ केयर’ कंपनी को। प्रधानमंत्री कार्यालय से कहा गया था कि 2 हजार करोड़ रूपए से 50 हजार वेंटिलेटर खरीदे जाएंगे। फिर 23 जून को 40 हजार वेंटिलेटर खरीदने की बात कही गई थी तो क्या ये 50 हजार वेंटिलेटर का हिस्सा थे। जिसके बारे में 31 मार्च को सरकार ने ऐलान किया था या फिर सरकार ने पीएम केयर फंड के तहत 40 अतरिक्त वेटिंलेटर खरीदे जाने की बात कही गई थी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment