लॉकडाउन: दारू वालों को मिली आजादी, दवा वालों का कट रहा चालान - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 July 2020

लॉकडाउन: दारू वालों को मिली आजादी, दवा वालों का कट रहा चालान

यूपी में तेज़ी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के मकसद से प्रदेश में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है। ऐसे में सरकार ने उन्हीं लोगों को घर से निकलने की इजाजत दी है, जो या तो जरूरी सेवाओं में लगे हैं यह फिर किसी जरूरी काम से कहीं जा रहा हैं। लेकिन यह क्या शनिवार को जब लोग सड़क पर निकले तो उन्हें अजीब हालातों का सामना करना पड़ा। हुआ यह कि शराब खरीदने वालों को पुलिस का फुल सहयोग मिल रहा था यानी पुलिस उन्हीं आने-जाने से न तो रोक रही थी और न ही उनका चालान काट रही थी। वहीं अस्पताल, मेडिकल स्टोर और जरूरी कार्य से बाहर निकलने वाले लोगों को सड़क पर दुश्वारियां झेलनी पड़ीं। पुलिस की झिडकियां सुनने के साथ-साथ उन्हें मोटा चालान भी भरना पड़ा।
बता दें कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण हर सप्ताह 55 घंटे का लॉकडाउन लागू किया गया है। शनिवार और रविवार को घोषित लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए जिले में 63 स्थानों पर वाहन चेकिंग प्वाइंट बनाए गए। शनिवार को सुबह से लेकर शाम तक पुलिस ने 1525 वाहनों को चेक किया और 229 वाहनों का चालान भी काटा। इस दौरान पुलिस ने एक लाख बारह हजार 300 रुपये समन शुल्क के रूप में वसूले हैं। शेरुआ चौराहे पर तो अस्पताल के पर्चे दिखाने के बाद भी पुलिसकर्मियों ने लोगों को नहीं जाने दिया।
– संजय ने बताया मैं शराब खरीदने आया हूं। मुझे रास्ते में पुलिसकर्मियों ने रोका। जब मैंने शराब खरीदने के लिए जाने की बात कही तो उनहोंने हमें जाने दिया।
-ज्ञानी ने कहा मैंने बंगला गांव चौराहा स्थित शराब की दुकान से शराब खरीदी थी। वहीँ चौराहे के पास पुलिसकर्मियों ने रोक लिया, लेकिन मैंने कहा शराब लेकर जा रहा हूं तो जाने दिया।
प्रदीप कुमार ने बताया मैं कॉसमॉस अस्पताल से हार्ट की दवा लेकर लौट रहा था, तभी पीएसी तिराहे पर पुलिसकर्मियों ने मेरी बाइक रुकवा ली। मैंने दवा का पर्चा भी दिखाई, इसके बाद भी उन्होंने मेरी बाइक का चालान कर दिया।
असलम बताते हैं कि मैं भूड़े के चौराहे पर स्थित अस्पताल से दवा लेने गया था। वहां से लौटते समय डबल फाटक चौराहे पर पुलिसकर्मियों ने रोक लिया और मेरी बाइक का चालान काट दिया।
कासिफ ने कहा कि मेरे पिताजी हरथला स्थित अस्पताल में भर्ती हैं। मैं धामपुर से अस्पताल जा रहा था, तभी कांठ में मुझे पुलिस कर्मियों ने मुझे रोक लिया। मैंने दवाइयाें के पर्चे दिखाए,फिर भी उन्होंने मुझे अस्पताल नहीं जाने दिया और मेरी कार का चालान कर मुझे वापस भेज दिया।
पुलिस अधीक्षक नगर बोले
इस बारे में जब नगर पुलिस अधीक्षक अमित आनन्द से बात की गई तो उन्होंने कहा प्रदेश में लॉकडाउन लागू है। इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। अगर कोई बहुत जरूरी काम से जा रहा है तो पूछताछ के बाद उसे इजाजत दे दी जाती है। शराब खरीदने के लिए नजदीकी दुकान पर ही जा सकते हैं,लेकिन उनके लिए भी मास्क जरूरी है।
क्या कहते हैं-जिला अबकारी अधिकारी
जिला अबकारी अधिकारी के अनुसार शासन के आदेश पर जिले में अंग्रेजी, देशी और बीयर की सभी दुकानें खोल दी गई थीं। साथ ही सेल्समैन को निर्देशित किया गया था कि शराब बिक्री के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जाए और बिना मास्क के किसी भी व्यक्ति को शराब न दी जाए।
आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment