ड्वेन जॉनसन ‘द रॉक’ के बारे में 5 रहस्मयी बातें जो आप नही जानतें होंगे - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

01 July 2020

ड्वेन जॉनसन ‘द रॉक’ के बारे में 5 रहस्मयी बातें जो आप नही जानतें होंगे

फ़िल्मी बिज़नेस एक जोखिम भरा पेशा है। यह हर किसी के बस की बात नहीं है। केवल कुछ चुनिंदा लोग ही हैं जिन्होंने खेल के फील्ड से होते हुए फिल्मों में सफलता पायी है।और खासतौर पर कुश्ती के खेल से आने वाला तो शायद ही कोई नाम याद आता हो। लेकिन एक नाम जिसने सबसे ज़्यादा सफलता पायी है वो है ड्वायन जॉनसन ऊर्फ ‘द रॉक’।
द रॉक जो कि महिलाओं और पुरुषों में एक समान मशहूर है, एक अच्छे बॉडी-बिल्डर के साथ साथ उतने ही अच्छे इंसान भी हैं।

बहुत कम लोगों ने फिल्म व्यवसाय में ईमानदारी को बरकरार रखा है, ड्वेन जॉनसन के रूप में सफलता हासिल करने के बावजूद, जिन्होंने अपना नाम एक उच्च दर्जे के पहलवान के रूप में बनाया था अभी तक मेहनत कर रहे हैं और अब शीर्ष के अभिनेताओं में उनका नाम शुमार है।
आपने जुमान्जी के लेटेस्ट वर्जन में उनका एक्शन-पैक्ड रोल खूब सराहा होगा। हर नए दिन के साथ उनका फैन-बेस बढ़ता जा रहा है । आईये जानते हैं रॉक के बारे में कुछ दिलचस्प बातें ।
ड्वेन जॉनसन 'द रॉक'
1 . क्या आप ड्वायन जॉनसन कि सैलरी जानते हैं?
यह एक अचम्भित कर देने वाला आंकड़ा है। ऐसा माना जाता है कि द रॉक आजकल प्रति फिल्म एक लाख अमेरिकी डॉलर के करीब चार्ज करते हैं। एक दुबले पतले पहलवान से एक उत्कृष्ट पहलवान और एक्टर बनने का सफर वाकई में शानदार है।
2 . रेसलिंग विरासत में ही मिली
जबकि हम में से ज्यादातर पहले ही जानते हैं कि ड्वेन जॉनसन के कज़न और चाचा रेसलर थे, क्या आप यह जानते हैं कि उनकी दादी भी कुश्ती के खेल से जुड़ी थीं? उनकी दादी- ‘लिआ माविया’- एक रेसलिंग प्रमोटर थी।
3 . बचपन में फुटबॉल खिलाडी बनना चाहते थे
ड्वायन जॉनसन हमेशा से एक फुटबॉल खिलाडी बनना चाहते थे।हालांकि ऍन.एफ.एल द्वारा उन्हें सेलेक्ट नहीं किया गया लेकिन फिर भी वो खेल को फॉलो करते रहे और खेलने कि उम्मीद जगाये रखी। कॉलेज में उन्होंने क्रिमिनोलॉजी और फिजियोलॉजी में डिग्री हासिल की।
4 . जॉन सीना के पसंदीदा रेसलर हैं द रॉक
जॉन सीना जो की खुद एक सर्वश्रेठ रेसलर हैं द रॉक को सबसे अच्छा रेसलर मानते हैं।
5 . द कमबैक किंग
ड्वायन जॉनसन ने भी कई रेस्टलेर्स की तरह रिंग में वापसी की है। उनकी 2011 में रॉ में की गयी वापसी को 47 लाख लोगों ने स्टेडियम में देखा जो कि आज भी एक रेस्टलिंग मैच के लिए बहुत बड़ी संख्या है।
आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment