2 हफ्ते से जंग लड़ रहे बिग बी ने शेयर किया अपना अनुभव, कोरोना को लेकर किया ये चौंकाने वाला खुलासा - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

26 July 2020

2 हफ्ते से जंग लड़ रहे बिग बी ने शेयर किया अपना अनुभव, कोरोना को लेकर किया ये चौंकाने वाला खुलासा

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh bacjchan) कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus) से संक्रमित हैं. इस समय उनका इलाज मुंबई के नानावती अस्पताल में चल रहा है. जहां पर उन्हें एडमिट करवाया गया है. हॉस्पिटल में इलाज करवाने के साथ ही अपने स्वास्थ्य (Amitabh bachchan health updates) से जुड़ी हर पल की अपडेट बिग बी सोशल मीडिया के जरिए अपने फैंस के बीच साझा कर रहे हैं. गौरतलब है कि अमिताभ के साथ ही उनके बेटे अभिषेक बच्चन को भी अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा था क्योंकि उनकी भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद बहू ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या के संक्रमित होने की जानकारी मिलने के बाद उन्हें भी अस्पताल भर्ती होना पड़ा था.

दरअसल इलाज के दौरान भी बिग बी सोशल मीडिया पर लगातार एक्टिव हैं. ट्विटर हैंडल पर फैंस के बीच बने रहने के साथ ही अमिताभ ब्लॉग पर आर्टिकल भी लिखना नहीं भूल रहे हैं. उन्होंने हाल ही में अपने ब्लॉग के जरिए अस्पताल में कोरोना से जंग लड़ने का अब तक पूरा अनुभव लोगों के बीच साझा किया है. ब्लॉग में बिग बी ने लिखा है कि, ‘रात का अंधेरा है और ठंडे कमरे की कपकपाहट है. मैं गाता हूं. आंखें बंद हैं और सोने की कोशिश जारी है.



यहां आस पास कोई नहीं है.’ आगे अपने लंबे ब्लॉग में अमिताभ बच्चन ने ये भी बताया है कि कोरोना वायरस किस तरह से मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर कर रहा है.

दरअसल इस ब्लॉग में अमिताभ बच्चन ने लिखा है कि, ‘जो डॉक्टर्स आप पर नजरें गड़ाए होते हैं वो भी आपके पास मौजूद नहीं होते हैं. वे सिर्फ वीडियो कॉल के सहारे मरीजों से बातचीत करते हैं. क्योंकि इन हालातों में यही जायज है. आगे बिग बी ने बताया कैसे कई हफ्तों तक इलाज के दौरान मरीज किसी को नहीं देख पाता.



न ही किसी से मिल पाता है. सिर्फ डॉक्टर्स, नर्स आते हैं वो भी पीपीई किट में पैक होते हैं और रिमोट ट्रीटमेंट देकर चले जाते हैं’

आगे अमिताभ सवाल करते हैं कि ‘क्या इसका असर मानसिक स्वास्थ्य पर होता है? तो साइकोलॉजिस्ट की माने तो इसका असर जरूर पड़ता है. उन्होंने कहा कि अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद भी मरीज डरे सहमे से रहते हैं. यहां तक कि लोगों के बीच जाने से उन्हें बहुत ज्यादा डर महसूस होता है.

वो सोचते हैं कि कहीं लोग उनके साथ औरों से अलग व्यवहार न करें. वो आपके सामने इस तरह का बर्ताव करेंगे जैसे आप वो बीमारी लेकर चल रहे हैं. अमिताभ ने बताया कि इस तरह के डर को परियाह सिंड्रोम (छुआछूत का डर) कहते हैं. जिसके कारण ज्यादातर लोग डिप्रेशन और अकेलेपन का शिकार हो रहे हैं.’

इस वायरस के बारे में आगे जानकारी देते हुए अमिताभ बच्चन ने बताया कि, ‘इस बीमारी से मुक्त होने के बाद भी आपके शरीर में तीन से चार हफ्ते तक हल्का बुखार रह सकता है. क्योंकि अभी तक दुनियाभर में कोई भी इस वायरस पर पूरी तरह से कोई प्रमाण नहीं तलाश पाया है.

इस वायरस से जुड़े केस अलग-अलग तरह के हैं. क्योंकि हर दिन इस वायरस से संबंधित लक्षण भी बदल रहे हैं. इससे पहले मेडिकल फील्ड ने अपने को कभी इतना असहाय नहीं महसूस किया होगा. हैरानी वाली बात तो ये है कि ये बीमारी सिर्फ एक या दो जगह पर नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैली हुई है.’



आपको बता दें कि 11 जुलाई को अचानक रात में ये खबर सामने आई थी कि एक्टर अमिताभ बच्चन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में एडमिट करवाया गया है. इसके बाद उनके बेटे अभिषेक बच्चन और बहू ऐश्वर्या राय बच्चन साथ ही बेटी आराध्या बच्चन का भी कोरोना टेस्ट करवाया गया था.

जिसके बाद अभिषेक की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी. जबिक ऐश्वर्या और आराध्या की रिपोर्ट नेगेटिव आई थी. लेकिन दो दिन बाद खबर आई कि ऐश्वर्या और आराध्या भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. जिसके बाद उन्हें भी इलाज के लिए नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment