चीन से सीमा विवाद पर भारत को मिला अमेरिका का साथ, चीन को झटका - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

23 June 2020

चीन से सीमा विवाद पर भारत को मिला अमेरिका का साथ, चीन को झटका

लद्दाख सीमा पर दोनों देशों के बीच लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है. ऐसे में चीन को सबक सिखाने के लिए भारत ने हर रणनीति तैयार कर ली है. इसी बीच भारत ने चीन के खिलाफ एक और बड़ी कामयाबी हासिल की है. दरअसल इस संकट समय में अमेरिका की ओर से भारत को समर्थन मिलना शुरू हो गया है. ऐसे में जाहिर सी बात है कि ये खबर चीन के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है. हाल ही में आई जानकारी की माने तो अमेरिका के एक शीर्ष भारतीय-अमेरिकी सासंद की ओर से ये बयान दिया गया है कि भारत की सीमा पर चीन जिस तरह से बार-बार अक्रामक गतिविधियों को अंजाम दे रहा है, और तनाव बढ़ा रहा है, उसे बढ़ाने की रणनीति बनाने के बजाय चीन को कूटनीति अपनानी चाहिए. साथ ही सांसद ने चीन की कड़ी आलोचना भी की है. जो सोमवार की रात सीमा पर अक्रामक गतिविधि हुई थी.

दरअसल बीते हफ्ते सोमवार की रात दोनों देशों के बीच हिंसक झड़प हुई थी. जिसमें भारत के एक कर्नल समेत 20 जवान शहीद हो गए थे. इसी के बाद से पूरा हिंदुस्तान क्रोध की आग में जल रहा है. यहां तक कि लगातार सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव जारी है. इससे सीमा पर हालात काफी नाजुक बने हुए हैं. इसी सिलसिले में सासंद राजा कृष्णमूर्ति ने सोमवार को दिए अपने बयान में कहा है कि, ‘मैं चीन की सरकार की ओर से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (वास्तविक निंयत्रण रेखा) पर हालिया खतरनाक आक्रामक गतिविधि और बेवजह जीवन को हुई क्षति से काफी ज्यादा चिंतित हूं.’
साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि चीन सरकार को अंतरराष्ट्रीय नियमों के मुताबिक अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ विवादों से निपटने के समय उकसावे और धौंस के रास्ते का इस्तेमाल करना अब बंद कर देना चाहिए. तो वहीं दूसरी तरफ इलियोनिस से डेमोक्रेटिक सासंद ने अपने बयान में ये कहा कि, ‘मैं चीन सरकार से बहुत ही कड़े शब्दों में इस बात की अपील करता हूं कि वो तनाव बढ़ाने वाली धृष्टता के पैंतरे को अपनाना छोड़ भारत के साथ अपने सीमा विवाद से जुड़े सवालों को सुलझाने के लिए कूटनीति का पालन करें.’ आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने सोमवार को चीन की ओर से गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर हमले को पूर्वनियोजित हमला करार दिया है. साथ ही इस बात की भी डिमांड की है कि चीन तुरंत पूर्वी लद्दाख से जुड़े सभी स्थानों से अपनी सेना हटाए.
आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment