2011 वर्ल्ड कप फाइनल फिक्स किए आरोपों पर महेला जयवर्द्धने ने तोड़ी चुप्पी दिया ये बयान - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

22 June 2020

2011 वर्ल्ड कप फाइनल फिक्स किए आरोपों पर महेला जयवर्द्धने ने तोड़ी चुप्पी दिया ये बयान

श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेला जयवर्द्धने ने उन आरोपों पर बड़ा बयान दिया है, जिसमें कहा गया था कि 2011 का वर्ल्ड कप फाइनल मैच फिक्स था। महेला जयवर्द्धने ने ये आरोप लगाने वाले श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगमगे को करारा जवाब दिया है।
महिंदानंदा अलुथगमगे ने श्रीलंका के न्यूज आउटलेट News 1st से कहा था, "2011 वर्ल्ड कप का फाइनल फिक्सड था और मैं अपनी बातों पर कायम हूं। यह जब हुआ था, तब मैं खेल मंत्री था। मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ यह बात कह रहा हूं और मैं यहां तक कि डिबेट के लिए आगे आने के लिए तैयार हूं। हालांकि मैं देश की खातिर पूरी जानकारी का खुलासा नहीं करना चाहता हूं। भारत के खिलाफ 2011 वर्ल्ड कप मुकाबला, जो हम जीत सकते थे फिक्स था।"
महेला जयवर्द्धने इस बात से खुश नजर नहीं आए थे और उन्होंने निशाना साधते हुए ट्वीट किया। श्रीलंका के पूर्व कप्तान ने ट्वीट करते हुए लिखा था, "क्या चुनाव आने वाले हैं? ऐसा लग रहा है कि यह सर्कस फिर शुरू हो गया है। कोई नाम या फिर सबूत?"
इसके बाद पूर्व खेल मंत्री का एक और ट्वीट आया जिसमें उन्होंने लिखा कि मुझे नहीं पता कि कुमार संगकारा और महेला जयवर्द्धने इस बात को क्यों इतना बढ़ा रहे हैं। मैंने किसी खिलाड़ी की तरफ इशारा नहीं किया है। लेकिन क्रिकेट अफीशियल्स ने 2011 वर्ल्ड कप फाइनल के बाद कार की कपंनी खरीदी थी।

इस ट्वीट के जवाब में महेला जयवर्द्धने ने भी जबरदस्त ट्वीट किया और लिखा 'जब कोई ये आरोप लगाता है कि 2011 का वर्ल्ड कप मुकाबला फिक्स था तो अपने आप ही ये बात बड़ी हो जाती है। क्योंकि हमें नहीं पता है कि बिना प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बने कोई कैसे मैच फिक्स कर सकता है। उम्मीद है 9 साल बाद हमें इस बारे में कोई जानकारी मिलेगी।'

2011 वर्ल्ड कप फाइनल में महेला जयवर्द्धने ने जड़ा था शतक

2011 वर्ल्ड कप फाइनल भारत और श्रीलंका के बीच मुंबई में 2 अप्रैल को खेला गया था। श्रीलंका ने महेला जयवर्द्धने की शतकीय पारी की बदौलत 275 रनों का लक्ष्य भारतीय टीम को दिया था। भारत ने पहले गौतम गंभीर (97) और फिर महेंद्र सिंह धोनी (91*) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत इस लक्ष्य को हासिल कर लिया था। 49वें ओवर में महेंद्र सिंह धोनी ने कुलसेकरा की गेंद पर छक्का लगाते हुए भारत को 28 साल बाद वर्ल्ड कप का खिताब जिताया था।
आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment